लेबनान ने लगाया आरोप- सऊदी अरब ने पीएम साद-अल-हरीरी को कर रखा है नज़रबंद, रिहा करने की कि मांग

लेबनान ने लगाया आरोप- सऊदी अरब ने पीएम साद-अल-हरीरी  को  कर रखा है नज़रबंद, रिहा करने की कि मांग
Click for full image

मिडल ईस्ट इन दिनों सियासी उठा-पटक का दौर देख रहा है। लेबनान के प्रधानमंत्री साद-अल-हरीरी ने बीते शनिवार इस्तीफा दिया था। जान के खतरे का डर बताकर उन्होंने अचानक यह कदम उठाया था।

लेबनान ने इसी क्रम में शुक्रवार को बड़ा आरोप लगाया। कहा कि उनके पीएम को सऊदी अरब ने नजरबंद कर के रियाद में रखा है। लेबनान ने इस बाबत सऊदी से उसके पीएम को लौटाने की मांग की है। उधर, सऊदी अरब इन आरोपों को खारिज कर रहा है।

ईरान और देश के शिया समूह हिज्बुल्लाह पर उन्होंने अरब देशों में विवादों जन्म देने के लिए जिम्मेदार ठहराया है।उल्टा वह लेबनान के अस्थिर हालात को देखकर अपने नागरिकों को वहां से फौरन निकलने के निर्देश जारी कर चुका है।

लेबनान के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “पीएम को रियाद में इस तरह से नजरबंद करना लेबनान की संप्रभुता पर हमला है। हमारी प्रतिष्ठा भी प्रतिष्ठा है। हम उन्हें बेरूत वापस लाने के लिए अन्य देशों का साथ लेंगे। वहीं, हरीरी के एक करीबी ने बताया, “सऊदी अरब ने पीएम को पीछे हटने के लिए कहा था, जिसके बाद उन्हें नजरबंद कर दिया गया।

Top Stories