सऊदी अरब में नया क़ानून, मनी लॉन्ड्रिंग पर होगी 15 साल की जेल

सऊदी अरब में नया क़ानून, मनी लॉन्ड्रिंग पर होगी 15 साल की जेल
Click for full image

रियादः सऊदी अरब ने शनिवार को एक नया एंटी मनी लॉन्ड्रिंग लॉ पेश किया। नए कानून के तहत, मनी लॉन्ड्रिंग के लिए 3 से 15 साल की कारावास या $ 1.87 मिलियन तक का जुर्माना होगा। इन में उन सभी दंडों को जोड़ा गया है| जो अभियुक्त एक संगठित गिरोह का हिस्सा होता है या अपराध के दौरान हिंसा का इस्तेमाल करता है| यदि अपराध में मानव तस्करी, एक नाबालिग या एक महिला का शोषण, या एक सुधारक, धर्मार्थ या शैक्षिक सुविधा का उपयोग शामिल है।

दंड दोहराने वाले अपराधियों के लिए भी जोड़ा गया है| मनी लॉन्ड्रिंग के लिए जेल में आने वाले सऊदी नागरिकों को एक बार उनकी जेल की अवधि के लिए एक बार के बाद उन पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा जबकि गैर-सऊदी को अपनी सजा पूरी करने के बाद भेजा जाएगा और उन्हें फिर से राज्य में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। नए कानून के मुताबिक, एक मनी लॉन्डरिंग अपराध में संपत्ति या आय से जुड़ी कोई भी लेनदेन शामिल होता है या किसी अन्य गतिविधि व्यक्ति को छुपाने या उसकी मदद करने जैसे मूल अपराध शामिल हैं|

मनी लॉन्ड्रिंग में किसी भी संपत्ति या आय का ज्ञान, जिसमें वे आपराधिक गतिविधियों का परिणाम हैं या प्रकृति, स्रोत, आंदोलन, स्थान को छिपाने के अलावा अवैध या नाबालिग स्रोत भी आते हैं| नया कानून इस बात पर ज़ोर देता है कि किसी भी पूर्ववर्ती कृत्यों को करने का प्रयास, समझौते द्वारा किसी भी कार्य में भाग लेना, सहायता प्रदान करना, उकसाया जाना अपराधों में माना जाता है। वह दंडनीय अपराध है|

Top Stories