सऊदी अरब पूरी तरह से अमेरिका के दबाव में काम कर रहा है: मौलाना सलमान नदवी

सऊदी अरब पूरी तरह से अमेरिका के दबाव में काम कर रहा है: मौलाना सलमान नदवी
Click for full image

लखनऊ। सऊदी अरब पूरी तरह संयुक्त राज्य अमेरिका के दबाव में है और यह मुस्लिम देशों की मदद करने के बजाय ईसाईयों और यहूदियों की ओर जा रहा है। मुस्लिम देशों से नाता तोड़कर यहूदी राष्ट्रों के साथ अपने संबंध को बढ़ावा दे रहा है। इन सारे ख्यालात का इज़हार मशहुर आलिमे दीन मौलाना सलमान नदवी ने पिछले दिनों ईटीवी के साथ बातचीत में की।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

गौरतलब है कि पिछले दिनों सऊदी अरब से संबंध रखने वाले कुछ आलिमों ने मौलाना सलमान नदवी पर आरोप लगाया है कि वह अपने भाषणों और लेखों के माध्यम से आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं। पिछले दिनों यह खबर भी थी कि नदवा से संबंध रखने वाले मशहुर आलिमे दीन को सऊदी अरब के दबाव में ओमान से निकाल दिया गया, और उन्हें त्वरित देश छोड़ना पड़ा।

हालांकि मौलाना सलमान नदवी ने लखनऊ वापसी पर इस तरह के आरोपों का खंडन किया। इसके साथ ही यह भी स्पष्टकर दिया कि सऊदी अरब के इस प्रकार की नीतियों के ख़िलाफ़ इस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। मौलाना के अनुसार अबू बकर अल-बगदादी से संबंध के बिना पर तरह तरह की बातें की जा रही हैं। तथ्य यह है कि अल-बगदादी को भी खत भेजी गई है।

मौलाना सलमान नदवी कहते हैं कि उन्हें ओमान, तुर्की सहित किसी भी देश को छोड़ने के लिए मजबूर नहीं किया गया, कई देशों के विद्वानों के साथ बेहतर और सुखद संबंध हैं। वे अपने भाषणों और लेखों के माध्यम से लोगों में जागरूकता लाने की कोशिश कर रहे हैं।

Top Stories