Wednesday , December 13 2017

G-20 में सऊदी अरब ने कहा-आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता, रोजगार युवाओं को चरमपंथ से रोक सकता है

Saudi Arabia Minister of State Ibrahim Abdulaziz Al-Assaf is seen at the G20 summit in Hamburg, Germany July 7, 2017. REUTERS/Wolfgang Rattay

सऊदी अरब ने दुनिया की 20 बड़ी आर्थिक शक्तियों के सरपरस्ती में जी -20 के मौके पर कहा कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। युवा पीढ़ी को आतंकवाद और उग्रवाद की राह पर चलने से रोकने के लिए उन्हें सम्मानजनक रोजगार प्रदान करना होगा।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अलअरबिया डॉट नेट के अनुसार जर्मनी के शहर हेमर्ग में शुक्रवार को शुरू होने वाले जी 20 की बैठक के पहले सत्र को संबोधित करते हुए सऊदी के राज्यमंत्री डॉक्टर इब्राहीम बिन अब्दुलअजीज अलअसाफ ने कहा कि रोजगार आपूर्ति युवकों को चरमपंथ से रोकने का सबसे अच्छा रास्ता है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर आतंकवाद के लिए भर्ती और प्रोपैगेंड़े के इस्तेमाल को रोकने की जरूरत है।

डॉक्टर अलअसाफ ने कहा कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। यह एक ऐसा अपराध है जिसका लक्ष्य पूरी दुनिया है। उनका कहना था कि आतंकवाद को जड़ से उखाड़ने के लिए सऊदी अरब ने मजबूत रणनीति अपनाई है।

TOPPOPULARRECENT