पीडीपी छोड़ने वाले मोहम्मद खलील बंद ने नेशनल कांफ्रेंस ज्वाइन किया!

पीडीपी छोड़ने वाले मोहम्मद खलील बंद ने नेशनल कांफ्रेंस ज्वाइन किया!

चार दिन पहले पीडीपी का दामन छोड़ने वाले पूर्व मंत्री और पुलवामा से तीन बार विधायक रहे मोहम्मद खलील बंद रविवार को नेशनल कांफ्रेंस में शामिल हो गए। नेकां अध्यक्ष डा. फारूक अब्दुल्ला ने उनका पार्टी में स्वागत किया।

पीडीपी के संस्थापक सदस्य खलील बंद ने वरिष्ठ नेताओं की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए गत बुधवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। लगातार तीन बार 2002, 2008 और 2014 में पुलवामा से विधायक बने। वे पुलवामा जिले के पीडीपी अध्यक्ष भी थे।

इस्तीफा देने के बाद ही उन्होंने संकेत दिए थे कि वे नेशनल कांफ्रेंस से नई राजनीतिक पारी की शुरुआत कर सकते हैं। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को भेजे इस्तीफे में उन्होंने कहा था कि पीडीपी से किनारा करने का कारण यह है कि पार्टी द्वारा पुलवामा की जनता को नजरअंदाज किया गया। पार्टी में उन लोगों की चलती है, जो हार कर आए थे।

जो जीत कर आए थे उनकी कहीं पर सुनवाई नहीं हो रही। उनकी कहीं पर इज्जत नहीं रखी गई और सीनियर लोगों के साथ बहुत बेइज्जती हुई। इसलिए यह कदम उठाना पड़ा।

हमने मुफ्ती मोहम्मद सईद के साथ 2002 से काम किया। उनके साथ काम करके बहुत कुछ सीखा और पाया भी, लेकिन अब कुछ गिने-चुने लोग महबूबा मुफ्ती के आसपास हैं, जिन्होंने सीनियर नेताओं को किनारे कर दिया है। वह जो सलाह महबूबा को देते हैं वैसा ही होता है। हम लोगों की सलाह पर कोई सुनवाई नहीं होती।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, पिछले साल जून में पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार के गिरने के बाद पीडीपी से आठ पूर्व विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। इनमें अल्ताफ बुखारी, डा. हसीब द्राबू, बशारत बुखारी, इमरान रजा अंसारी, जावेद मुस्तफा मीर, आबिद अंसारी और अब्बास वानी शामिल हैं।

Top Stories