शाहिन बाग: सुप्रीम कोर्ट से चुने गए टीम ने मीडिया के सामने बात करने से इंकार किया!

शाहिन बाग: सुप्रीम कोर्ट से चुने गए टीम ने मीडिया के सामने बात करने से इंकार किया!

सुप्रीम कोर्ट द्वारा शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत के लिए नियुक्त किए गए वार्ताकार आज शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों से वार्ता करने के लिए पहुंच गए।

 

 

खास खबर पर छपी खबर के अनुसार, शाहीन बाग में वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि अच्छी बातचीत रहेगी। हम सब नागरिक हैं एक दूसरे की बात सुनना जरूरी है और सुप्रीम कोर्ट भी यही चाहता है।

 

 

वहीं, वार्ताकार संजय हेगड़े ने मीडिया कर्मियों से बात करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुसार हम प्रदर्शनकारियों से मिलने आए हैं। उनसे बात करेंगे। हम चाहते हैं कि मीडिया निजता का अधिकार बनाए रखे।

 

 

वार्ताकारों ने कहा कि मीडिया की मौजूदगी में सारी बातें संभव नहीं हैं। बातचीत के बाद मीडिया को इस बारे में जानकारी दे दी जाएगी। रामचंद्रन ने कहा कि हम यहां फैसला करने नहीं आए हैं।

 

 

वार्ताकारों ने मीडिया से कहा कि वे फिलहाल यहां से जाएं, बातचीत के बाद उन्हें बता दिया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश को वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों को जानकारी दी।

 

 

 

वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों से सुप्रीम कोर्ट के आदेश को पढ़ते हुए बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि प्रदर्शनकारियों को प्रदर्शन करने का अधिकार है।

 

 

 

कोर्ट ने कहा है कि मिलजुलकर इस का हल निकालना चाहिए। वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि हम इस मसले का ऐसा हल निकालेंगे जो देश ही नहीं पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन जाएगा।

 

 

 

शाहीन बाग को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जो कुछ कहा, उसे पढ़कर वार्ताकार संजय हेगड़े सुनाया।

 

 

 

वार्ताकार संजय हेगड़े ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा, जो लोग प्रदर्शन उन्हें हम प्रदर्शन रोकने के लिए नहीं कह रहे हैं, लेकिन हमारी चिंता उस जगह को लेकर जहां प्रदर्शन चल रहा है, क्योंकि वहां ट्रैफिक बाधित हो रहा है।

 

 

 

इससे पहले शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने कहा कि वार्ताकारों का हम स्वागत करते हैं और उनकी बात भी सुनेंगे, लेकिन हमारी मांग यही होगी कि सरकार सीएए और एनआरसी को वापस ले।

Top Stories