Friday , December 15 2017

‘बाबू जी धीरे चलना…’ की अदाकारा शकीला नहीं रहीं

मुंबई : गुज़रे ज़माने की अदाकारा शकीला का 82 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह कई बीमारियों से पीड़ित थीं। बुधवार रात मुंबई के एक अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली।

50 और 60 के दशक में शकीला ने एक से बढ़कर एक कई फिल्मों में काम किया। लेकिन सबसे ज्यादा पहचान शकीला को साल 1954 में आई फिल्म ‘आर पार’ के गाने ‘बाबूजी धीरे चलना’ से मिली। यह गाना उस दौर में जितना मशहूर था आज भी उतना ही लोकप्रिय है।

फेसबुक पर उनके भतीजे नासिर ख़ान ने ये जानकारी दी। उन्होंने लिखा, ‘बड़े दुख के साथ मुझे बताना पड़ रहा है कि मेरी आंटी, मां की बड़ी बहन शकीला आंटी का निधन हो गया है। अल्लाह उन्हें जन्नत अता करें। आमीन.’

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, बादशाह बेग़म के रूप में उनका जन्म एक जनवरी 1935 को हुआ। साल 1949 में शकीला के रूप में उन्होंने फिल्म दुनिया से बॉलीवुड में क़दम रखा। इस फिल्म में उन्होंने उस ज़माने की मशहूर अदाकार सुरैया के साथ काम किया। शकीला ने सिंदबाद द सेलर (1952), लाल परी (1954), अली बाबा चालीस चोर (1954) और हातिम ताई (1956) जैसी फिल्मों में काम किया है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, साल 1963 में शादी के बाद वह ब्रिटेन चली गई और फिल्मों में काम करना बंद कर दिया। बाद में हम इंतज़ार करेंगे (1989) और राजद्रोही (1993) में वह छोटी भूमिकाओं में नज़र आई थीं।

अभिनेत्री शकीला के भतीजे और प्रख्यात अभिनेता जॉनी वाकर के बेटे नासिर ख़ान ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में बताया, ‘बढ़ती उम्र की वजह से उन्हें किडनी से जुड़ी समस्याएं थीं। यही उनकी मौत की वजह बनी. गुरुवार को माहिम में उन्हें दफ़नाया गया।’

TOPPOPULARRECENT