सांप्रदायिक दंगे रोकने में नाकाम शिवराज सिंह सरकार,पहले ही किए पीड़ितों के लिए बजट में प्रावधान

सांप्रदायिक दंगे रोकने में नाकाम शिवराज सिंह सरकार,पहले ही किए पीड़ितों के लिए बजट में प्रावधान
Click for full image

भोपाल: बीते तीन सालों में देश भर में सांप्रदायिक हिंसा के मामलों में काफी बढ़ोतरी नजर आ रही है। देश भर से इकठा की गई जानकारी के आधार पर तैयार की गई गृह मंत्रालय की एक रिपोर्ट से एक बड़ा खुलासा हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक देश भर में सांप्रदायिक हिंसा के सबसे ज्यादा मामले उत्तरप्रदेश, बिहार, कर्नाटक, राजस्थान और मध्यप्रदेश में हुए हैं। ऐसा नहीं है कि राज्य सरकारें इन आंकड़ों से अनजान है लेकिन मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है।

बात करें मध्यप्रदेश की तो प्रदेश में आसीन शिवराज सिंह चौहान सरकार ने तो इस बार बजट में सांप्रदायिक दंगों में पीड़ित लोगों को सहायता राशि उपलब्ध करवाने के लिए अलग से एक करोड़ रुपए का प्रावधान रखा है।

इससे जाहिर होता है कि सरकारें किस तरह से सांप्रदायिक हिंसा को रोकने में अपनी नाकामी जाहिर कर चुकी है। हैरानी वाली बात यह भी है कि सरकार ने मरने वाले लोगों की जान की कीमत पहले से तय कर उसका बजट भी बना लिया है।

Top Stories