औरंगाबाद का नाम बदलने को लेकर शिवसेना- बीजेपी आमने-सामने!

औरंगाबाद का नाम बदलने को लेकर शिवसेना- बीजेपी आमने-सामने!

शिवसेना ने औरंगाबाद शहर का नाम संभाजीनगर रखने की मांग को लेकर सोमवार को भारतीय जनता पार्टी की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल पर हमला बोला है।

 

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में भाजपा को याद दिलाया गया है कि 25 वर्ष पूर्व शिवेसना सुप्रीमो दिवंगत बालासाहेब ठाकरे ने औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर रख दिया था।

 

शिवसेना ने पाटिल की टिप्पणी को विशेष तरजीह न देते हुए कहा है कि, उन्हें यह कहने की आवश्यकता क्यों पड़ी कि वे छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज हैं और यहां कोई औरंगजेब का वशंज नहीं है।”

 

संपादकीय में विवादित किताब आज के शिवाजी: नरेन्द्र मोदी की ओर संकेत करते हुए कहा गया है कि भाजपा पिछले पांच सालों से छत्रपति शिवाजी महाराज का नाम ले रही है और अब वह पीएम नरेन्द्र मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी महाराज से करने का दुस्साहस करने लगी है।

 

शिवसेना ने कहा कि भाजपा बीते पांच वर्षों तक राज्य में सत्ता में थी और केन्द्र में अब भी उसकी सरकार है। संपादकीय में कहा गया है कि, आपने औरंगाबाद का नाम क्यों नहीं बदला?

 

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी के इलाहाबाद और अन्य शहरों के नाम बदल डाले। भाजपा को याद होना चाहिये कि 25 वर्ष पूर्व ही शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ने संभाजीनगर का नाम बदला था।

Top Stories