शिवसेना ने बीजेपी को दिखाई तेवर, कहा- ‘हमारे विकल्प खुले हुए हैं’

शिवसेना ने बीजेपी को दिखाई तेवर, कहा- ‘हमारे विकल्प खुले हुए हैं’

महाराष्ट्र में नयी सरकार बनाने के लिये भाजपा के दावा पेश करने पर बाचतीत करने से पहले ‘सत्ता में समान हिस्सेदारी के फार्मूले’ (50:50) को लागू करने के लिये शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने सहयोगी दल से शनिवार को लिखित में आश्वासन देने को कहा। शिवसेना के एक विधायक ने यह जानकारी दी।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, शिवसेना के नवनिर्वाचित विधायकों ने मुंबई में ठाकरे के आवास पर उनसे मुलाकात की। उन्होंने नयी सरकार में आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की।

विधायक ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘ठाकरे ने भी कहा है कि ‘उनके पास अन्य विकल्प खुले हैं।’ लेकिन उन्हें तलाशने में रूचि नहीं ले रहे हैं क्योंकि भाजपा और शिवसेना हिंदुत्व की विचारधारा रखती है।’’

शिवसेना ने जीते इतनी सीटें
राज्य में 21 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनाव में शिवसेना के 56 सीटों पर जीत दर्ज करने के दो दिनों बाद नवनिर्वाचित विधायकों ने ठाकरे से मुलाकात की। उन्होंने शिवसेना प्रमुख को नयी सरकार के गठन के बारे में फैसला लेने के लिये अधिकृत किया। शिवसेना के लिखित में आश्वासन मांगने को उसकी दबाव बनाने की तरकीब के तौर पर देखा जा रहा है।

बीजेपी को भारी नुकसान
दरअसल, भाजपा को 2014 की तुलना में इस चुनाव में 17 सीटों का नुकसान हुआ है और उसकी सीटों की संख्या 122 (2014 के) से घट कर 105 पर आ गई है। राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक भाजपा के खराब प्रदर्शन ने शिवसेना की सौदेबाजी करने की ताकत बढ़ा दी है।

शिवसेना ने बीजेपी के सामने रखी शर्त
हालांकि, शिवसेना की सीटों की संख्या भी 2014 के 63 की तुलना में घट कर 56 पर आ गई है। शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक ने बैठक के बाद ठाकरे को उद्धृत करते हुए कहा, ‘‘लोकसभा और विधानसभा चुनाव में शिवसेना कम सीटों पर चुनाव लड़ी।

उद्धव ने याद दिलाया वादा
उद्धव ठाकरे ने कहा है कि भाजपा को सत्ता-साझेदारी के फार्मूले को लागू करने के बारे में लिखित में आश्वासन देना होगा। सीटों और सत्ता में समान हिस्सेदारी के बारे में मेरे आवास पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस की मौजूदगी में इसे (फार्मूले को) तैयार किया गया था।’’

Top Stories