आहत होकर इस मुस्लिम खिलाड़ी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास!

आहत होकर इस मुस्लिम खिलाड़ी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास!

आईसीसी ने अपनी सलाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में बड़ा फैसला लेते हुए जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड को तत्काल प्रभाव से बैन कर दिया है। जिम्बाब्वे क्रिकेट पर अनुशासन के सिद्धांतों का पालन नहीं करने के कारण आईसीसी ने यह फैसला लिया है।

जिम्बाब्वे क्रिकेट पर लगे इस बैन के बाद अब उसका इसी साल अक्टूबर में पुरुष टी20 वर्ल्ड कप क्वालीफायर में उसकी भागीदारी खतरे में पड़ गई है। इतना ही नहीं बैन के चलत इक खिलाड़ी ने संन्यास तक का ऐलान कर डाला।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, आईसीसी के चेयरमैन शशांक मनोहर ने इस मामले को लेकर कहा, “हम किसी सदस्य को बैन करने के फैसले को हल्के में नहीं लेते हैं, लेकिन हमें अपने खेल को राजनीतिक हस्तक्षेप से मुक्त रखना चाहिए। जिम्बाब्वे में जो हुआ है वह आईसीसी संविधान का एक गंभीर उल्लंघन है और हम इसे अनियंत्रित जारी रखने की अनुमति नहीं दे सकते।”

इस तरह अपने देश के क्रिकेट बोर्ड पर प्रतिबंध लगने के बाद जिम्बाब्वे के कई खिलाड़ियों ने सोशल मीडिया पर भावुक सन्देश किए हैं। जिसमें उन्होंने एक फैसले से सामने आने वाली समस्याओं को जाहिर किया है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि इस तरह से वो अपने अन्तराष्ट्रीय करियर को खत्म होते नहीं देखना चाहते थे।

गौरतलब है कि सिकंदर ने जिम्बाब्वे के लिए 12 टेस्ट, 97 वनडे और 32 टी20 मैच खेले हैं। इतना ही नहीं सिकंदर के बाद जिम्बाब्वे के बेहतरीन खिलाड़ी ब्रेंडन टेलर ने ट्वीटर पर भावुक ट्वीट करते हुए कहा, “जिम्बाब्वे से क्रिकेट को जाता देख दिल काफी टूटा है।

हमारी सरकार में एक भी सांसद ऐसा नहीं है जो इसके समर्थन में उतरे? सैकड़ों ईमानदार लोग, ग्राउंड स्टाफ सभी बेरोजगार हो गए।”

Top Stories