Thursday , January 18 2018

बेबस रोहिंग्या मुसलमानों की मदद को आगे आए ‘सिख संगठन’ को बांग्लादेश सरकार ने दी बड़ी राहत

म्यांमार में हो रही हिंसा के कारण रोहिंग्या मुसलमान लगातार बांग्लादेश की ओर पलायन कर रहे हैं। अभी तक के आंकड़ों के मुताबिक,3,89,000 रोहिंग्या मुस्लिम बांग्लादेश में शरण ले चुके हैं।

बांग्लादेश-म्यांमार सीमा पर रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थियों की सहायता करने के लिए भारत से पहुंचे सिख वॉलियंटर्स ने ‘गुरु लंगर’ शुरु कर दिया। बांग्लादेश सरकार ने इस टीम को शरणार्थियों के लिए राहत कार्य शुरू करने की अनुमति दे दी।

जानकारी मुताबिक, ‘द खालसा एड’ टीम ने सीमावर्ती शहर तेकनाफ में अपना कैंप लगा रखा है। टीम की तरफ से शाहपुरी द्वीप पर लंगर सेवा शुरू की गई। खालसा एड (इंडिया) के मैनेजिंग डायरेक्टर अमरप्रीत सिंह ने फोन पर मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘हम लोगों ने पहली बार यहां पर खाना तैयार करके बांटा है।

उन्होंने बताया शरणार्थियों की संख्या ज्यादा होने के कारण हमें डर था कि खाना बंटता देख कहीं भगदड़ ना मच जाए। लेकिन हमने सोचा कि शुरुआत में ही एक दिन में सभी लोगों को खाना खिलाने की हमारी क्षमता नहीं है। लेकिन लोगों को यहां खाने की बहुत जरूरत है। लंगर के पहले दिन पका हुआ चावल और सब्जी परोसी गई।

TOPPOPULARRECENT