Tuesday , December 12 2017

लफीकुल इस्लाम हत्याकांड की जांच के लिए असम सरकार ने बनाई एसआईटी

पश्चिम बंगाल: असम में एबीएमएसयू नेता लफीक उल इस्लाम अहमद की गोली मार कर हत्या कर दी गई। उनके शव को सुपुर्द-ए-ख़ाक करने के लिए उनके परिवार को सौंप दिया गया है।

एबीएमएसयू नेताओं ने सरकार को अपराधियों के पकड़ने तक उन्हें सुपुर्द-ए-खाक न होने देने की चेतावनी दी थी।

एबीएमएसयू के महासचिव शाहकमाल खंदकर ने कहा था कि हमारा मानना हैं कि ये एक राजनीतिक हत्या है और इसके पीछे गहरी साजिश है।

उन्होंने इस हत्या की सीबीआई जांच और कोकराझार के पुलिस अधीक्षक को तुरंत हटाने की मांग की है। जिसके चलते सरकार ने इस मामले में अहमद की हत्या की जांच के लिए आज एसआईटी का गठन किया है। एसआईटी के प्रमुख पुलिस सुपरिन्टेन्डेन्ट प्रकाश मेधी होंगे।

कल कोकराझार पहुंचे डीजीपी मुकेश सहाय ने बीटीसी अध्यक्ष हग्रामा मोहिलारी और जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ स्थिति का जायजा लिया।

उन्होंने बताया कि इस मामले में इम्तियाज अली नाम के एक शख्स को हिरासत में लिया गया है और जिले में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए अतिरिक्त बल तैनात कर दिया गया है।

 

TOPPOPULARRECENT