सीरिया के जो हालात हैं वो नाक़ाबिल बर्दाश्त, संयुक्त राष्ट्र संघ पर अल्लाह की लानत है: एर्दोगान

सीरिया के जो हालात हैं वो नाक़ाबिल बर्दाश्त, संयुक्त राष्ट्र संघ पर अल्लाह की लानत है: एर्दोगान
Click for full image

गोता में हो रहे लगातार बमबारी को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति तय्यब एर्दोगान ने आक़ पार्टी के संसदीय अधिवेशन को सम्बोधित करते हुए कहा कि पूर्वी गोता में जो हालात है वो नाक़ाबिल बर्दाश्त हैं। उन्हें कोई भी मनावतावादी बर्दाश्त नही कर सकता है।

गोता में हो रहे हमले और बमबारी को लेकर उनहोंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ ने इन हमलों एवं बमबारी को रोकने का आदेश दिया था, लेकिन इस पर अम्ल न होने पर एर्दोगान ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ का सीज़फायर समझौता किसी काम का नही है। इस समझौता के बावजूद बमाबरी और ज़हरीली गैस से इंसानियत मर रही है।

एर्दोगान ने संयुक्त राष्ट्र की सलामती काउंसिल की तरफ से 30 दिन तक सीज़फायर के प्रतिबन्ध पर टिपण्णी करते हुए कहा है कि दुनिया पाँच से बड़ी है,लेकिन इस समय दुनिया के पाँच बड़ों से इंसानियत को कोई फायदा नही पहुँच रहा है।

एर्दोगान ने संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा सीरिया की हालात पर काबू न पाने पर कहा कि तुम्हारी ऐसी क़रारदाद पर लानत हो जो इंसानियत के किसी काम ना आये। उनहोंने कहा कि ज़हरीली गैस से पिछले 24 घण्टों में 70 से अधिक लोगों व बच्चों की मौत हुई है।

बता दें कि पूर्वी घोता में बशारुल असद की बमबारी में पिछले दिनों में लगभग 800 लोग शहीद हो चुके हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ ने बशारुल असद के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाये एक क़रार दाद पेश की थी जिसको बशार ने मानने से इनकार कर दिया था।

Top Stories