Tuesday , December 12 2017

सोसायटी वालों ने नौकरानी को बनाया बंधक, छुड़ाने पहुंची भीड़ ने जमकर किया पत्थराव

नोएडा सेक्टर-78 में महागुन मॉर्डेन सोसायटी के निवासियों ने बुधवार सुबह जमकर हंगामा किया। स्थानीय लोगों ने सोसायटी को घेर लिया और जमकर पत्थरबाजी की जिसके चलते सोसायटी में रहने वाले लोगों को खुद को अपने-अपने फ्लैटों में कैद करना पड़ा।

इतना ही नहीं, पत्थरबाजी के चलते ये हालत हो गई कि पुलिस और पीसीआर को भी पीछे हटना पड़ा।

दरअसल, मामला कुछ यूँ है कि सोसायटी के कुछ लोगों ने काम करने वाली एक नौकरानी को बंधक बनाकर रखा था। बताया जा रहा है कि नौकरानी बंगलादेशी है।

महिला के परिजन बुधवार की सुबह उसे छुड़ाने सैकड़ों लोगों के साथ पहुंचे थे। इसके बाद महिलाओं और पुरुषों ने सोसायटी में जमकर तोड़फोड़ और पत्थरबाजी की जिसके बाद भारी संख्या में पुलिस को भारी संख्या में सैन्य बल को बुलाना पड़ा।

खबर के मुताबिक़, टॉवर-5 के फ्लैट नंबर 12 में मितुल सेठी अपनी पत्नी हर्षू और तीन साल के बच्चों के साथ रहते हैं। मर्चेंट नेवी के पूर्व कैप्टन मितुल का अपना कारोबार है और उनकी पत्नी हर्षू एक स्कूल में अध्यापिका हैं। उनके यहां पश्चिम बंगाल निवासी अब्दुल सत्तार की पत्नी जोहरा बीबी बतौर नौकरानी काम करती थी।

पूर्व कैप्टन के जेब से 17 हजार रुपये का चोरी हो गया था जिसका आरोप और उनके परिवार वालों ने जोहरा बीबी पर लगाया था। कैप्टन की पत्नी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जोहरा पर शक जताया था। इसी को लेकर मंगलवार को उन्होंने जोहरा को फ्लैट से बाहर निकाल दिया।

इसके बाद जोहरा दूसरे टावर में रहने वाली रमीला सिंह के यहां पहुंची। तबीयत खराब बताने पर रमीला ने उसे अपने यहां रुकने को कह दिया। हालांकि रमीला को जोहरा की चोरी वाली हरकत की जानकारी नहीं थी। जोहरा पहले रमीला के यहां भी काम करती थी।

बताया जा रहा है जब जोहरा समय पर अपने घर नहीं पहुंची तो उसका पति सत्तार उसे ढूंढ़ता हुआ सोसायटी पहुंचा और अपनी को वहां न पाकर थाना सेक्टर- 49 पहुंच गया। उसने पुलिस से पत्नी को ढूंढ़ने में मदद करने की गुहार लगाई।

लेकिन इसी बीच तकरीबन सुबह 6 बजे सैकड़ों की संख्या में लोग सोसायटी के गेट पर आ धमके। सुरक्षाकर्मियों ने भीड़ को देखकर गेट बंद कर दिया। तभी भीड़ ने जोहरा के बारे में पूछा तो सिक्योरिटी प्रबंधक कौशल शर्मा ने उसके रात में चले जाने की जानकारी दी।

इसी बीच एक सुरक्षाकर्मी सुभाष को किसी ने बताया कि जोहरा बीबी रमीला के फ्लैट में है। फिर अचानक भीड़ में से किसी ने जोहरा को बंधक बनाए जाने की सूचना फैला दी। ये सुनकर भीड़ सोसायटी गेट की चेन को तोड़कर अंदर घुस गई। देखते ही देखते भीड़ ने मितुल के फ्लैट पर धावा बोल दिया।

इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने पुलिस की मदद से अंदर घुसे भीड़ को बाहर खदेड़ दिया। लेकिन इसी बीच 20 सुरक्षाकर्मी लाठी-डंडे लेकर गेट पर पहुंचे और अंदर आए लोगों पर लाठी बरसानी शुरू कर दी।

इसके बाद भीड़ ने पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। इसके जवाब में सुरक्षाकर्मियों और सोसायटी में रहने वाले लोगों ने भी भीड़ पर जमकर पत्थरबाजी की जिसके चलते कई फ्लैटों के शीशे टूट गए।

इस घटना की सूचना मिलने पर भारी संख्या में पुलिस बल को बुलाया गया जिसके बाद भीड़ को शांत कराया जा सका। बताया गया है कि नौकरानी बेसुध थी और पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया है।

एसपी सिटी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि जोहरा ने आरोप लगाया कि उसकी मालकिन ने कुछ लोगों की मदद से उसे पूरी रात बंधक बनाए रखा।

पुलिस का कहना है कि फिलहाल दोनों पक्षों की तरफ से शिकायत की गई है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मामले की जांच की जा रही है। इसके अलावा सोसायटी के लोगों और अब्दुल सत्तार समेत सैकड़ों लोगों पर पथराव और मारपीट करने का मामला दर्ज किया गया है।

इसके अलावा इस मामले में दिल्ली महिला आयोग ने भी दखल दिया है। आयोग ने कहना सोसायटी के लोगों ने फोन कर नौकरानी के लिए मदद मांगी थी। इसके बाद आयोग की टीम घटना स्थल पर पहुंची थी। आयोग की टीम ने भी कैप्टन की पत्नी पर मारपीट करने और तनख्वाह नहीं देने का मामला दर्ज कराया है।

TOPPOPULARRECENT