कुछ और शहरों को भी बनाया जा सकता है कासगंज, यह सब लिखित स्क्रिप्ट का हिस्सा है

कुछ और शहरों को भी बनाया जा सकता है कासगंज, यह सब लिखित स्क्रिप्ट का हिस्सा है

दंगे भाजपा के लिए ऑक्सिजन का काम करते हैं। इंसानी लाशों के ढेर पर राजनीति का महल तैयार करना उनका पुराना पेशा है। मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद आरएसएस के विचारधारा वाले सत्ता को बरक़रार रखने और देश को हिन्दू राष्ट्र बनाने की स्क्रिप्ट लिखे चुके हैं। पिछले चार साल से देश में जो कुछ हो रहा है. यह उसी लिखित स्क्रिप्ट का हिस्सा है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

आरएसएस के विचारधारी जानते हैं कि धार्मिक जूनून में लिप्त करके नौजवान नस्ल को गुमराह करना बहुत आसान है, इसलिए एक एक करके भावना व धार्मिक इशुज़ को उछाल कर बहुत ख़ूबसूरती और कामियाबी से इस योजना पर अमल किया जा रहा है। देश को हिन्दू राष्ट्र बनाने का आरएसएस का मिशन अभी मुकम्मल नहीं हो सका है उसके लिए उसे कुछ सालों तक अभी अधिक सत्ता की ज़रूरत है। पिछले दिनों गुजरात में भाजपा को दोबारा सत्ता में आने के लिए जो कुछ करना पड़ा है, उसने आरएसएस के कान खड़े कर दिए हैं।

राजस्थान और पश्चिम बंगाल मेंहुए निकाय चुनाव का नतीजा आ चूका है, भाजपा दोनों जगह हार गई। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी का यह कहना सौ फीसद सच है कि आरएसएस देश पर अपना विचारधारा थोप रही है। पैसों की झंकार पर नाच करने वाला मीडिया सच दिखने और बताने से गुरेज़ कर रहा है बल्कि वह वही दिखा रहा है. जो उसे दिखाने को कहा गया है।

Top Stories