Tuesday , November 21 2017
Home / Khaas Khabar / मुसलमानों पर हमले के आरोप में कट्टरपंथी बौद्ध धर्मगुरु गिरफ्तार

मुसलमानों पर हमले के आरोप में कट्टरपंथी बौद्ध धर्मगुरु गिरफ्तार

कोलंबो: श्रीलंका में पुलिस ने कथित तौर पर मुसलमानों के खिलाफ घृणित अपराधों में लिप्त एक बौद्ध धर्मगुरु को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए जाने वाले 32 वर्षीय व्यक्ति का संबंध कट्टरपंथी बौद्ध संगठन ‘बोदो बाला सेना’ से है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

बीबीसी की खबर के मुताबिक उन पर मुसलमानों के खिलाफ हमले और आगजनी करने जैसे कई आरोप हैं, जिससे देश में साम्प्रदायिक और तनाव में वृद्धि हुई।

पुलिस प्रवक्ता परियानाथा जे कोडी का कहना है कि पिछले अप्रैल से मुसलमानों के घरों, उनके व्यवसाय, मस्जिदों और कब्रिस्तानों में आगजनी के अब तक 16 घटनाओं से संबंधित जांच की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ‘हम ऐसे अपराध के खिलाफ सख्त रुख अख्तियार कर रहे हैं।’पुलिस का कहना है जिस व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है उनका कोलंबो के बाहरी इलाके में होने वाली आगजनी से सीधा संबंध है। गिरफ्तार किए गए उक्त व्यक्ति को पूछताछ के लिए पुलिस हिरासत में लिया गया है।

श्रीलंका में मुस्लिम अल्पसंख्यकों को पेट्रोल बम से निशाना बनाया जाता रहा है और पुलिस इस संबंध में भागने वाले एक सरगना गलागोदती गननासारान को न पकड़ने पर आलोचना का सामना करना पड़ा है।पुलिस का कहना है कि जिस व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है वह गननासारान का करीबी सहयोगियों में से एक हैं। गननासारान कट्टरपंथी बौद्ध के धार्मिक नेता हैं जो पिछले मई से उस समय से लापता हैं जब पुलिस ने उन्हें पूछताछ के लिए तलब किया था।

इस दौरान बोदो बाला सेना के एक प्रवक्ता ने अपने एक वीडियो संदेश में कहा है कि उनके संगठन मुसलमानों के खिलाफ होने वाले हमलों में शामिल नहीं है लेकिन संगठन ने सरकार पर यह कहकर आलोचना भी की है कि वे बौद्ध बहुल देश में इस्लामी चरमपंथ को बढ़ावा दे रही है। बयान में कहा गया है कि एक दो दशक में ही श्रीलंका में बौद्ध के मानने वालों को खतरा हो जाएगा।

इस कट्टरपंथी संगठन पर इससे पहले भी 2014 में धार्मिक दंगे भड़काने के आरोप लगाए जा चुके हैं, उस दौरान चार लोग मारे गए थे।

TOPPOPULARRECENT