कठुआ: मुसलमानों को खदेड़ने के लिए मास्टरमाइंड ने करवाया बच्ची का गैंगरेप!

कठुआ: मुसलमानों को खदेड़ने के लिए मास्टरमाइंड ने करवाया बच्ची का गैंगरेप!

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कठुआ में नाबालिग से गैंगरेप और हत्या मामले में चार्जशीट दाखिल कर कहा है कि मास्टरमाइंड ने बकरवाल समुदाय के मुसलमानों को बाहर खदेड़ने के लिए इस घिनौने अपराध के लिए अपने भतीजे और अन्य 6 लोगों को उकसाया था। सोमवार (9 अप्रैल, 2018) को कठुआ के चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट को सौंपी गई इस चार्जशीट में यह भी कहा गया है कि गैंगरेप का मास्टरमाइंड सांजी राम मामले में निपटारे के खिलाफ था। कठुआ गैंगरेप और हत्या के मास्टरमाइंड सांजी ने, जानवरों को चराने के लिए, जमीन नहीं देने के लिए हिंदुओं को बकरवाल समुदाय के खिलाफ उकसाया था।

चार्जशीट में कहा गया है कि तहसील में हिंदू समुदाय के बीच आम धारणआ थी कि बकरवाल गाय की हत्या और नशीले पदार्थों की तस्करी करने में लगे हैं। इससे उनके समुदाय के लोग नशे के शिकार हो रहे हैं। आरोप पत्र में यह भी कहा गया है कि, इसके परिणामस्वरूप हिंदू इसके बहाने बकरवाल समुदाय को धमकाते थे। इलाके में दोनों समुदायों के बीच तनाव की वजह से एफआईआर के मामले तेजी से बड़े हैं। दोनों समुदाय ने एक दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराईं हैं।

क्राइम ब्रांच की शुरुआती जांच के मुताबिक नाबालिग बच्ची को एक मंदिर में रखा गया। उसे नशीली पदार्थ दिया गया। उसकी हत्या से पहले एक सप्ताह में कई बार गैंगरेप किया गया। रिपोर्ट के अनुसार मंदिर में कैद आठ वर्षीय बच्ची का बलात्कार करने के लिए एक आरोपी राम मेरठ से आया था। उससे कहा गया कि अगर वह अपनी हवस मिटाना चाहता है तो आ जाए।

इस दौरान एक अन्य आरोपी पुलिसकर्मी ने नाबालिग की हत्या से पहले कहा कि पहले वह एक बार और उसका रेप करना चाहता है। बाद में अन्य लोगों ने फिर बच्ची का गैंगरेप किया। फिर हत्या कर दी गई। बच्ची का सिर कई बार पत्थर से मारा गया। पुलिस रिपोर्ट के रेप के आरोपी राम को बचाने के लिए पुलिस को 1.5 लाख रुपए दिए गए थे।

Top Stories