Thursday , November 23 2017
Home / Education / कॉलेज प्रशासन और राज्य सरकार से परेशान हो छात्र ने पीएम मोदी की खत लिख मांगी इच्छामृत्यु

कॉलेज प्रशासन और राज्य सरकार से परेशान हो छात्र ने पीएम मोदी की खत लिख मांगी इच्छामृत्यु

भोपाल: मध्यप्रदेश में जीवाजी यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे एक स्टूडेंट ने कॉलेज प्रशासन से परेशान होकर प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा है। जिसमें इस छात्र ने मोदी से इच्छामृत्यु की मांग की है। ग्वालियर यूनिवर्सिटी के साइंस कॉलेज में एमएससी कर रहे आजाद में पिछले साल कॉलेज में दूसरे सेमेस्टर में एडमिशन लिया था।

इस सेमेस्टर की परीक्षा देने के बाद जब रिजल्ट आया तो आजाद ने देखा की उसका नाम न तो पास होने वाले स्टूडेंट्स की लिस्ट में है और न ही फ़ैल होने वाली लिस्ट में। इस बारे में उसने जाकर को कॉलेज प्रशासन को जानकारी दी लेकिन उन्होंने इसपर गौर न करते हुए कोई कार्रवाई नहीं की। लेकिन आजाद ने तीसरे सेमेस्टर की फीस भरने का वक़्त नजदीक आते देख आजाद ने सेमेस्टर की फीस जमा करवा दी।

कुछ दिन बाद उसे पता चला की कॉलेज प्रशासन ने उसे दूसरे सेमेस्टर में फेल कर दिया है। इसके बाद आजाद जब अपनी फीस वापस मांगने ऑफिस में के महिला क्लर्क के पास गया तो उसने आजाद से पहले 300 रुपए रिश्वत में देने की मांग की और फिर फीस वापिस देने की बात कही।

ये सारा वाक्य की ऑडियो आजाद ने रिकॉर्ड कर ली और उसे वायरल कर दिया। जिसके चलते कॉलेज प्रशासन ने इस महिला कर्मचारी को ससपेंड कर दिया। लेकिन इसके बाद भी कॉलेज प्रशासन ने आजाद की फीस वापस नहीं की। इससे परेशान होकर उसने जिला कलेक्टर से लेकर मुख्यमंत्री तक इसकी शिकायत की लेकिन किसी द्वारा उसकी परेशानी सुनी नहीं गई। इतना सब होने के बाद आजाद ने आखिर में पीएम मोदी को ही पत्र लिखा।

TOPPOPULARRECENT