Saturday , September 22 2018

सुंजवां आर्मी कैंप हमले में पांच शहीदों में से थे चार मुस्लिम

सुंजवां में आर्मी कैंप पर हुए हमले में पांच जवान शहीद हो गए थे. हमले के दौरान सुरक्षाबलों ने चारों आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया.

इस आतंकी हमले में  50 साल के जेसीओ मदल लाल चौधरी, सेना के जवान मोहम्मद अशरफ, हबीबुल्ला कुरैशी, मोहम्मद इकबाल और मंजूर अहमद शहीद हो गए. हिंदू मुस्लिम का भेद करने वाले जरा इन नामों को गौर से देख लें. पांच शहीदों में से चार मुस्लिम हैं.

शहीद होने वाले पांचों जवान जम्मू कश्मीर के ही थे. जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले के रहने वाले जेसीओ मदन लाल चौधरी के घर जैसे ही उनकी शहादत की खबर पहुंची, मातम छा गया. शहीद मदन लाल के पड़ोसी पाकिस्तान के प्रति भारत सरकार के रवैये से खासे नाराज हैं .

घाटी के कुपवाड़ा जिले के जवान मोहम्मद अशरफ भी इस हमले में शहीद हो गए हैं. अशरफ के घरवालों का रो-रो कर बुरा हाल है. परजिनों को मोहम्मद अशरफ की शहादत पर नाज है और वो चाहते हैं कि पाकिस्तान से मसले का हल बातचीत से निकले.

कुपवाड़ा जिले के बटपोरा गांव में रहलने वाले हबीबुल्ला कुरैशी ने भी देश के लिए जान कुर्बान कर दी. हबीबुल्ला कुरैशी अपने बूढ़े मां-बाप के इकलौते बेटे थे. वो अपने पीछे 6 बेटियों को छोड़ गए हैं.

पांच जवानों की शहादत के अलावा एक जवान के पिता की भी गोली लगने की वजह से मौत हो गई.

TOPPOPULARRECENT