चक्रवार्ती तूफान अम्फान से तबाही: सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र से एक लाख करोड़ रुपये मांगें!

चक्रवार्ती तूफान अम्फान से तबाही: सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र से एक लाख करोड़ रुपये मांगें!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद राज्य के लिए 1,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की।

 

खास खबर पर छपी खबर के अनुसार, मोदी ने कहा कि देश इस संकट की घड़ी में बंगाल के साथ खड़ा है। मोदी ने कहा, “मैं पश्चिम बंगाल के अपने भाइयों और बहनों को विश्वास दिलाता हूं कि पूरा देश इस कठिन समय में आपके साथ खड़ा है।”

 

प्रधानमंत्री मोदी के दौरे और राहत पैकेज पर राजनीति भी शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक हजार करोड़ के राहत पैकेज को अपर्याप्त बताते हुए कहा कि नुकसान एक लाख करोड़ का हुआ और मिल रहे हैं सिर्फ एक हजार करोड़।

 

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि मृतक व्यक्तियों के परिजनों को दो लाख रुपये दिए जाएंगे, जबकि जिन लोगों को गंभीर चोटें आई हैं, उनमें से प्रत्येक को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

 

गंभीर चक्रवात अम्फान ने बुधवार दोपहर को पश्चिम बंगाल में कहर बरपाना शुरू किया था। इस दौरान राज्य के विभिन्न हिस्सों में 155 कि. मी. प्रति घंटे से लेकर 185 कि. मी. प्रति घंटे तक की तेज हवा के साथ भारी बारिश हुई, जिससे प्रदेश में काफी नुकसान हुआ। सूत्रों के अनुसार, चक्रवात के कारण कम से कम 80 लोगों की जान गई है।

 

मोदी ने कहा कि अम्फान से हुए नुकसान का विस्तृत सर्वेक्षण करने के लिए जल्द ही एक केंद्रीय टीम राज्य में भेजी जाएगी। उन्होंने कहा कि पुनर्वास और पुनर्निर्माण से जुड़े सभी पहलुओं पर ध्यान दिया जाएगा। मोदी ने कहा, “हम सभी चाहते हैं कि पश्चिम बंगाल आगे बढ़े।”

 

प्रधानमंत्री जब गंभीर चक्रवाती तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए बंगाल में उतरे तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के अलावा वरिष्ठ भाजपा नेतृत्व उनकी अगवानी करने पहुंचे।

 

इसके बाद मोदी और बनर्जी ने अम्फान से प्रभावित क्षेत्रों का एक हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने उन क्षेत्रों के ऊपर से उड़ान भरी, जो लगातार बारिश होने के कारण पानी में डूब गए हैं। कहा जा रहा है कि 1999 के बाद से बंगाल की खाड़ी के क्षेत्र में अम्फान सबसे बड़ा चक्रवात आया है।

 

बनर्जी ने गुरुवार को कहा था, “मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध करती हूं कि वे आएं और प्रभावित का दौरा करें।” साथ ही बनर्जी ने यह भी कहा कि उन्होंने अपने पूरे जीवन में कभी भी इस तरह के गंभीर चक्रवात को नहीं देखा था।

 

इससे पहले प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया था, “पश्चिम बंगाल में चक्रवात अम्फान की तबाही के दृश्य देखे गए। इस चुनौतीपूर्ण समय में पूरा देश पश्चिम बंगाल के साथ एकजुटता से खड़ा है। लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना की जा रही है।

 

स्थिति सामान्य करने के लिए प्रयास जारी हैं। मोदी अब ओडिशा के लिए उड़ान भरेंगे, जो चक्रवात से बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

Top Stories