चक्रवार्ती तूफान अम्फान ने पश्चिम बंगाल में मचाई तबाही!

चक्रवार्ती तूफान अम्फान ने पश्चिम बंगाल में मचाई तबाही!

गंभीर चक्रवाती तूफान अम्फान की वजह से बुधवार दोपह पश्चिम बंगाल में भारी बारिश हुई। कोलकाता और उसके आस-पास के इलाकों में तेज बारिश के साथ 100 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक गति से तेज हवाएं चलीं।

खास खबर पर छपी खबर के अनुसार, यह चक्रवात कई वर्षों में बंगाल की खाड़ी में उठने वाले सबसे भयानक चक्रवातों में से एक है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि चक्रवात की आंख, जो 30 कि. मी. व्यास की है, ने धरती को छू लिया है।

अलीपुर मौसम विभाग (पूर्वी क्षेत्र) के संजीब बंद्योपाध्याय ने कहा कि चक्रवात की गोलाकार संरचना ने आज अपराह्न् बंगाल से टकराना शुरू कर दिया।

उन्होंने कहा, प्रक्रिया अपराह्न् 2.30 बजे के आसपास शुरू हुई, जो चक्रवाती वृत्त के आगे के क्षेत्र की सीमा के साथ बंगाल के तटीय जिलों से टकरा रहा है।

हमारे रिकॉर्ड के अनुसार शाम चार बजे कोलकाता में हवा की गति 105 किमी घंटा रही है, जो 130 किमी प्रति घंटा तक भी जा सकती है।

उन्होंने कहा कि तीन तटीय जिले दक्षिण और उत्तर 24 परगना व पूर्वी मिदनापुर सबसे अधिक प्रभावित होंगे। इसके अलावा कोलकाता, हावड़ा, हुगली, पश्चिम मिदनापुर जैसे दक्षिण बंगाल के जिले भारी तूफान का सामना करेंगे।

दक्षिण 24 परगना में सागर द्वीप, काकद्वीप और डायमंड हार्बर, पूर्वी मिदनापुर में दीघा और हल्दिया जैसे क्षेत्रों में तूफान अपने परचम पर है और इससे पेड़ों और बिजली के खंभे उखड़ गए हैं।

राज्य के सबसे बड़े नागरिक निकाय, कोलकाता नगर निगम के प्रशासक फरहाद हकीम ने कहा, हम स्थिति पर कड़ी नजर रख रहे हैं। तूफान के कारण कुछ पेड़ उखड़ गए हैं और शहर के विभिन्न हिस्सों में बिजली गुल हो गई है।

उन्होंने कहा, कोलकाता में पुरानी जीर्ण इमारतों से अस्थायी बचाव केंद्रों में लोगों को स्थानांतरित किया किया है। हालांकि इनमें से कुछ लोगों ने जाने से मना कर दिया है। हमारे अधिकारी एक घंटे के आधार पर स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, मैं टीएमसी नियंत्रण कक्ष में हूं और कोलकाता में समग्र स्थिति की देखरेख कर रहा हूं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नाबाना नियंत्रण कक्ष से स्थिति की समीक्षा कर रही हैं।

वह पूरी रात राज्य सचिवालय में रहेंगी। राज्य द्वारा एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है। मुख्य सचिव राजीब सिन्हा राहत और बचाव कार्यों की देखरेख कर रहे हैं। पुलिस हाई अलर्ट पर है।

बांग्लादेश में बुधवार को पूर्वी मिदनापुर के दीघा और हटिया द्वीप के बीच कहीं तूफान के टकराने की आशंका के मद्देनजर कोलकाता में सभी फ्लाईओवर और एलिवेटेड कॉरिडोर को वाहनों के आवागमन के लिए बंद कर दिया गया है।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि राज्य की राजधानी में विभिन्न फ्लाईओवरों पर वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने बुधवार को कहा कि इस बीच पश्चिम बंगाल में पांच लाख और ओडिशा में 1.5 लाख लोगों को सुरक्षित निकाला गया है।

Top Stories