Tuesday , April 24 2018

तरुण तेजपाल के खिलाफ रेप के मामले की सुनवाई एक साल में पूरी की जाए: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने कल गोवा की एक अदालत को निर्देश दिया है कि तहलका मैगज़ीन के संस्थापक व संपादक तरुण तेजपाल के खिलाफ रेप के आरोप में चल रहे मुकदमे की सुनवाई एक साल के भीतर पूरी की जाए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

तेजपाल के खिलाफ उसकी पूर्व महिला साथी की कथित रेप का मामला दर्ज किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने तेजपाल से कहा कि रेप के आरोप को ख़ारिज करने के लिए दायर उनकी याचिका मुंबई उच्च न्यायालय के जरिये ख़ारिज करने के 20 दिसंबर 2017 के फैसले को चैलेंज करने वाली याचिका की कॉपी गोवा सरकार को दी जाये।

न्यायमूर्ति ए.के. सेकड़ी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की खंडपीठ ने इस निर्देश के साथ-साथ तेजपाल की याचिका 24 अप्रैल तक स्थगित कर दी। इस बीच गोवा सरकार को तेजपाल की याचिका पर जवाब दाखिल करने की निर्देश दी गई है।

याचिका पर सुनवाई के दौरान तेजपाल की ओर से सीनियर वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि पीड़ित के जरिये दर्ज कराए गए बयान और सीसीटीवी फुटेज में कई मतभेद हैं। मगर निचली अदालत ने इन पर गौर नहीं किया। सिब्बल ने मोबाइल फोन की क्लोन कॉपी का मामला उठाते हुए कहा कि अदालत के आदेश पर दो साल बाद उन्हें यह मोहय्या कराई गई है।

TOPPOPULARRECENT