सांप्रदायिक तत्वों को हराने के लिए स्वामी स्वरूपानंद ने मुसलमानों से सहयोग देने की अपील की

सांप्रदायिक तत्वों को हराने के लिए स्वामी स्वरूपानंद ने मुसलमानों से सहयोग देने की अपील की

द्वारका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने एक बयान में उन तत्वों की निंदा की जो मंदिर के नाम पर हिंसा और शांति को बाधित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत में रहने वाले प्रत्येक धर्म के अनुयायियों की जिम्मेदारी है कि वे अपने धर्म का पालन करते हुए देश के विकास और विकास में अपनी भूमिका निभाएं।

उन्होंने हिंसक तत्वों को हराते हुए सभी से शांति से अपने मुद्दों को हल करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद का मामला अदालत में है, लेकिन कई संगठन मंदिर के तत्काल निर्माण को लेकर प्रचार कर रहे हैं।

शंकर आचार्य ने कहा कि हम आम सहमति से मामले को हल करना चाहते हैं। शंकर आचार्य ने एक लिखित बयान में कहा कि मंदिर एक दिन में नहीं बनाया जा सकता है इसलिए यह शिलान्यास करने के लिए पर्याप्त है।

उन्होंने कहा कि अगर मुस्लिम विद्वान इसके लिए सहमत होते हैं तो यह एक ऐतिहासिक कदम होगा। यह उन लोगों को हराने में मदद करेगा जो अपने राजनीतिक लाभ के लिए धर्मों के बीच नफरत फैला रहे हैं।

Top Stories