Wednesday , January 24 2018

सीरिया: ज़मीन पर बच्चों की लाशें देखकर फफक पड़ा पत्रकार, बचाई मरते हुए बच्चे की जान

सीरिया में सरकार के कब्जे वाले दो शहरों से बचाकर निकाले जा रहे लोगों को लेकर जा रही बसों को निशाना बनाया गया। शनिवार को बस पर आत्मघाती कार बम धमाका किया गया जिसमें 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई।

इस दौरान सीरियन फोटोग्राफर अब्द अलक़दार हबक ने अपनी जिंदादिली के लिए काफी वाहवाही बटोरी है। दरअसल धमाके के बाद हबक अपना काम छोड़ कर एक बच्चे की जान बचाने में जुट गए।

हबक ने बताया कि धमाके के तुरंत बाद मैंने भी अपने होश खो दिए। लेकिन चंद में मिंटो में जब मुझे होश आया तो मैंने अपना कैमरा एक तरफ रख दिया। घटनास्थल का नजारा दिल दहला देने वाला था।

मैं उठा और इधर-उधर जख्मी लोगों को बचने की कोशिश में जुट गया। पहला बच्चा जिस पर मेरी नजर गई वह तो दम तोड़ चुका था। लेकिन फिर मेरी नजर एक छोटे से बच्चे पर पड़ी जोकि बड़ी मुश्किल से सांस ले पा रहा था।

मैंने उसे जल्दी से गोद में उठाया और वहां मौजूद एम्बुलेंस की तरफ दौड़ पड़ा। इस लम्हे को मेरे साथी कैमरामैन मुहम्मद अल्गरेब ने अपने कैमरे में कैद कर लिया।

जिस वक़्त मैंने इस बच्चे को अपनी गोद में लिया तो उसने हलके से मेरा हाथ थाम लिया। हबक ने बताया कि अल्गरेब ने भी घायल लोगों की मदद की, लेकिन फिर वह तस्वीरें लेने के लिए वापस आ गया।

TOPPOPULARRECENT