तबरेज़ अंसारी मॉब लिंचिंग: अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में फोर्स तैनात करने का निर्देश!

तबरेज़ अंसारी मॉब लिंचिंग: अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में फोर्स तैनात करने का निर्देश!

सरायकेला मॉब लिंचिंग मामले में सोमवार को दो पुलिस अफसरों पर कार्रवाई हुई।शाहिस्ता परवीन ने बताया कि मेरे पति बेकसूर थे। 17 जून को उसके पति ने फोन कर बताया था कि वह जमशेदपुर से गांव के दो युवकों के साथ घर लौट रहा है।

फिर सुबह फोन कर बताया कि धातकीडीह में कुछ लोगों ने उसपर चोरी का इल्जाम लगाकर बेरहमी से पिटाई की। उसे पुलिस के हवाले कर दिया। शाहिस्ता ने कहा कि उसके पति की हत्या हुई है. उसे इंसाफ चाहिए।

तबरेज अंसारी की पिटाई में शामिल प्रकाश मंडल उर्फ पप्पू मंडल, भीमसेन मंडल, प्रेमचंग महाली, कमल महतो, सोनामो प्रधान, सत्यनारायण नायक, सोनाराम महली,चामू नायक,मैदान नायक,महेश महली व सुमन्त महतो को गिरफ्तार किया गया है। सभी 11 आरोपी धातकीडीह के हैं।

प्रभात खबर के अनुसार, धातकीडीह गांव में सन्नाटा पसरा है। गांव में एक भी पुरुष सदस्य नहीं हैं। पुलिस के डर से सभी भाग गये हैं। घरों में सिर्फ महिलाएं और बच्चे हैं।

गांव में जगह-जगह पुलिस तैनात है। एसडीओ और एसडीपीओ काे चौकसी बरतने का निर्देश दिया गया है। जबकि सीओ और पुलिस के अन्य अफसरों को कैंप करने को कहा गया है।

अनहोनी की आशंका से भयभीत महिलाओं ने पुलिस पदाधिकारियों को फोन कर गांव में सुरक्षा देने का आग्रह किया था। एसपी ने जिले के सभी अल्पसंख्यक बहुल गांवों में सुरक्षा के दृष्टिकोण से सुरक्षा बल को तैनात करने का निर्देश दिया है।

Top Stories