Saturday , September 22 2018

बच्चे की परवरिश के लिए हक़ मांगा तो व्हाट्सअप पर मिला तलाक़

सुल्तानपुर। बल्दीराय थाना के नंदौली गांव में बेटे के हक़ को लेकर जब पत्नी ने गुजारा मांगा तो सऊदी अरब में रह रहे पति ने वॉट्सऐप के जरिए तलाक दे दिया। दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर 4 साल पहले ससुरालवालों ने उक्त महिला रुबीना बानो उर्फ़ रूबी को घर से निकाल दिया था। वॉट्सऐप पर तलाक देखकर रूबी बेहोश हो गईं।

इसके बाद रूबी के घरवालों ने पूरे मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की है। नंदौली गांव निवासी मोहम्मद मोइन की बेटी रुबीना बानो उर्फ रूबी की शादी 17 दिसंबर 2012 को अमेठी जिले के कोतवाली मुसाफिरखाना क्षेत्र स्थित पूरे ठकुराइन शादीपुर गांव निवासी हफीज उर्फ रफीक पुत्र समीद अली के साथ हुई थी।

शादी में सामर्थ्य के अनुसार दहेज देने के बावजूद ससुरालवाले 2 लाख रुपये और एक बाइक की मांग करने लगे। मांग न पूरी कर पाने की वजह से 31 दिसंबर 2013 को रूबी को घर से निकाल दिया, जिसके बाद रूबी अपने मायके पहुंची। रूबी के साथ उनका बेटा शाहिद भी था।

रूबी का पति हफीज सऊदी अरब में काम करता है। जब रूबी ने पति हफीज से बेटे की पढाई के लिए पैसे मांगे तो पति ने विदेश से ही वॉट्सऐप के जरिए तलाक का मैसेज भेज दिया। इसके बाद रूबी एसपी अमित वर्मा के पास पहुंची और पूरे मामले से उन्हें अवगत कराया।

एसपी ने तलाक पीड़िता को कार्रवाई का भरोसा दिलाते हुए वापस घर भेज दिया है। इस संबंध में एसपी अमित वर्मा ने बताया कि वॉट्सऐप के जरिए तलाक की बात सामने आई है। जांच कर पीड़िता को न्याय दिलाया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT