Monday , July 23 2018

गहने बेचकर इस टीचर ने सरकारी स्कूल के बच्चों के लिए बना दिया ‘हाई-टेक क्लासरूम’

अक्सर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे बुनियादी सुविधाओं से वंचित रह जाते हैं। सरकार सिर्फ नाम के लिए स्कूल तैयार करवा देती है।

लेकिन उसके रखरखाव और बच्चों की बुनियादी जरूरतों पर ध्यान देती। जहाँ प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे आज स्मार्ट क्लासेज जैसी टेक्नोलॉजी से पढ़ाई कर रहे हैं।

वहीँ सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के बैठने का इंतज़ाम भी ढंग से नहीं किया जाता। अक्सर इसके बारे में स्कूल प्रशासन और टीचर्स शिकायत करते हैं।

लेकिन तमिलनाडु की एक महिला टीचर अन्नपूर्णा मोहन ने बच्चों को बेहतर सुविधाएँ देने के लिए एक अलग कदम उठाया।

अन्नपूर्णा मोहन ने अपनी ज्वैलरी बेचकर बच्चों के पढ़ने लायक क्लास बनाया। अन्नापूर्णा यहाँ तीसरी क्लास के बच्चों को इंग्लिश पढ़ाती हैं। उनका कहना है कि सिर्फ शहरी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को ऐसे सुविधाएं नहीं मिलनी चाहिए।

गाँव के सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों को भी ये सुविधाएँ मिलनी चाहिए। अन्नपूर्णा ने बच्चों के लिए बनाए अपने क्लास को एकदम इंटरनेशनल लुक दिया है। क्लास में स्मार्ट बोर्ड, अंग्रेजी किताबें, आरामदायक फर्नीचर सहित अच्छी-खासी व्यवस्था की गई है।

अन्नपूर्णा ने कहा कि मैं बच्चों को इंग्लिश बेहतर तरीके से सीखाने की कोशिश कर रही हूँ। ताकि इन बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ सके। मैं क्लास की शुरुआत से खत्म होने तक बच्चों से सिर्फ इंग्लिश में ही बात करती हूँ।

पहले इनमें से कुछ बच्चे मेरी बातों को नहीं समझ पाते थे लेकिन अब वे मेरी बातों पर प्रतिक्रिया देने लगे हैं।

अन्नपूर्णा अपने स्कूल और बच्चों का वीडियो भी फेसबुक पर शेयर करती हैं।

TOPPOPULARRECENT