Tuesday , December 12 2017

बीजेपी ने आरक्षण को बताया इस्लाम के ख़िलाफ़

हैदराबाद। तेलंगाना विधानसभा में भाजपा नेता किशन रेड्डी ने राज्य विधानसभा में पिछड़े मुसलमानों और अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षण की सीमा में वृद्धि से संबंधित विधेयक को असंवैधानिक बताते हुए कहा कि यह विधेयक न्यायिक संवीक्षा के दौरान नहीं टिकेगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा धर्म के आधार पर आरक्षण देने के बिल्कुल खिलाफ है। साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि मुस्लिमों को पिछड़ा वर्ग (ई) में शामिल करना पिछड़ा वर्ग के साथ नाइंसाफी है। उधर, विधेयक पारित होने के बाद मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री राव ने कहा कि राज्य सरकार ने यह आरक्षण केवल सामाजिक-आर्थिक पिछड़ेपन के आधार पर प्रदान करने का निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि ये धर्म या जाति के आधार पर नहीं दिया जा रहा है जैसा कि कुछ पार्टियां लोगों को गुमराह करने के लिए कह रहे हैं। किशन रेड्डी ने कहा कि इस्लाम धर्म में जाति या समूह की सदस्यता नहीं है और यह अजीब है कि सरकार मुसलमानों के बीच जातियों और समूहों को ढूंढ रही है।

 

आरक्षण प्रदान करना इस्लाम के खिलाफ है। कुछ समूहों और जातियों के साथ भेदभाव हो रहा है। अनुसूचित जनजाति के आरक्षण में बढ़ोतरी के लिए सरकार ने गलत किया है। यह कोटा केवल राजनीतिक है।

TOPPOPULARRECENT