जय माता दी’ न कहने पर दलित युवक की पिटाई के बाद मुजफ्फरनगर में तनाव, सुरक्षा बल तैनात

जय माता दी’ न कहने पर दलित युवक की पिटाई के बाद मुजफ्फरनगर में तनाव, सुरक्षा बल तैनात

उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के एक गांव में दलित व्यक्ति की पिटाई किये जाने के बाद इलाके में तनाव की स्थिति बन गई है. कई संगठनों ने आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी है.

पुलिस अधीक्षक (शहर) ओमबीर सिंह ने पीटीआई को बताया कि इलाके में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात कर दिए गए हैं.

सिंह ने बताया कि इस मामले के चार आरोपियों में से एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन्होंने कहा कि शेष तीन आरोपियों को भी शीघ्र की गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

बता दें कि मुजफ्फरनगर में विपिन कुमार नाम के दलित युवक की कुछ कथित हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने लाठी-डंडों से पिटाई कर दी थी. लोगों ने देवी-देवताओं के पोस्टर फाड़ने का आरोप लगाते हुए उससे ‘जय माता दी’ के नारे लगवाए और गालियां भी दी. यह पूरी घटना तब सामने आई जब इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. वीडियो सामने आने के बाद पुलिस हरकत में आई और एफआईआर दर्ज की.

वीडियो में युवक को बेरहमी से पीटा जा रहा है. वह माफ़ी की गुहार लगाता रहता है, लेकिन लोग उस पर लगातार डंडे बरसाते रहते हैं. पिटाई करने वालों के अलावा मौके पर कई अन्य लोग भी मौजूद हैं. पिटाई का शिकार युवक हेलमेट लगाए हुए है.

पिटाई करने वाले लोग उसे बार-बार कह रहे हैं, ‘तुमने हमारे देवी-देवताओं का अपमान क्यों किया. हमें तुमसे कोई ऐतराज नहीं फिर तुम्हें क्यों हैं’.

बताया जा रहा है कि पिटाई का शिकार हुआ युवक विपिन कुमार है. वह इसके पहले सहारनपुर हिंसा के दौरान विवादों में आया था. उस वक्त उसने खुद को भीम आर्मी की युवा विंग का सदस्य बताया था. वह कुछ दिनों पहले ही जेल से छूटकर आया है.

विपिन पर आरोप है कि उसने कुछ साथियों के साथ मिलकर दलितों के घर से देवी देवताओं के पोस्टर और मूर्ति उतरवा दिए थे. इनकी जगह उसने दलितों के यहां बाबा भीमराव आंबेडकर और रविदास के पोस्टर चिपकाए थे. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था.

बाद में हिंदू युवा वाहिनी के सदस्यों ने देवी-देवताओं का अपमान करने पर एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी. जिसके बाद विपिन और उसके साथी इस मामले में जेल भेजे गए थे.

सोर्स- आज तक

Top Stories