चाबहार बंदरगाह के बुनियादी ढांचे का काम ईरान ने शुरू किया!

चाबहार बंदरगाह के बुनियादी ढांचे का काम ईरान ने शुरू किया!

ईरान के दक्षिणी बंदरगाह चाबहार और भारत की “मुंबई” “कांडला” और “मुंद्रा” बंदरगाहों के बीच साझा लाइनर सेवा शुरू कर दिया गया है।
समाचार एजेंसी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार ईरान के दक्षिणपूर्वी प्रांत में स्थित चाबहार बंदरगाह के अधिकारियों ने बताया है लाइनर सेवा के पहले चरण में 3700 कंटेनर माल के साथ भारत का मालवाहक जहाज़ शहीद बहिश्ती बंदरगाह पहुंच गया है।

parstoday.com पर छपी खबर के अनुसार, ईरान के सिस्तान-बलूचिस्तान के बंदरगाहों और समुद्री प्राधिकरण महानिदेशक ने कहा है कि रविवार को शहीद बहिश्ती बंदरगाह में पहले मालवाहक जहाज़ के पहुंचने से चाबहार बंदरगाह और भारत के तीन बंदरगाहों के बीच संयुक्त लाइनर सेवा का आरंभ हो गया है।

श्री बहरूज़ आक़ाई ने बताया कि चाबहार की शहीद बहिश्ती बंदरगाह, वार्षिक 8.5 मिलियन टन माल उतारने और लोडिंग करने की क्षमता रखती है और एक लाख टन कंटेनर की क्षमता के जहाज़ चाबहार बंदरगाह पर लंगर डाल सकते हैं।

उन्होंने कहा कि शहीद बहिश्ती बंदरगाह के उद्घाटन के बाद से अबतक मालवाहक जहाज़ों की लोडिंग आदि में 61 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि सभी संबंधित विभागों के सहयोग से मालवाहक जहाज़ की आवाजाही में और अधिक बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।

बहरूज़ आक़ाई ने बताया कि ईरानी और विदेशी व्यापारी, अपना माल भारत से सीधे चाबहार ला सकते हैं। ज्ञात रहे कि चाबहार बंदरगाह ईरान के दक्षिण में स्थित एक महत्वपूर्ण बंदरगाह है जो ओमान सागर के उत्तरी भाग में स्थित है।

Top Stories