Thursday , September 20 2018

टीपू सुल्तान सांप्रदायिक सद्भाव के प्रतीक : राहुल गांधी

श्रृंगेरी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि मुस्लिम शासक टीपू सुल्तान सांप्रदायिक सद्भाव के प्रतीक हैं। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राज्यव्यापी मंदिरों की यात्रा के दौरान उन्होंने बुधवार को श्रृंगेरी शारदम्बा पीठ का दौरा किया। वहां, टीपू के हिंदू मठ के साथ संबंध सम्बन्धी एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि टीपू सुल्तान ने संकट के समय मंदिर की मदद की थी।

राहुल गांधी 11.45 बजे मंदिर पहुंचे और वह धोती और शाल के पारंपरिक परिधान पहने हुए थे। उनके साथ केपीसीसी के प्रवक्ता के दिवाकर और मठ अधिकारी उपस्थित थे।
दिवाकर ने कहा कि राहुल गांधी ने टीपू के मठ के साथ संबंध से पूछा था। मैंने उन्हें एक पत्र के बारे में बताया जो टीपू ने मठ के तत्कालीन जिम्मेदार द्वारा दान को लिखा गया था।

राहुल इस वाकये से प्रभावित हुए और सांप्रदायिक सद्भाव का उदाहरण होने के लिए कर्नाटक की प्रशंसा की। राहुल का तर्क था कि टीपू धर्मनिरपेक्ष थे। अब इस बयान से कांग्रेस और भाजपा के बीच शब्दों के वार शुरू होने की संभावना है, क्योंकि भगवा पार्टी ने मैसूर शासक की जयंती समारोह का विरोध किया और उन्हें सांप्रदायिक लेबल दिया था।

TOPPOPULARRECENT