Friday , September 21 2018

भारत के मंत्री का 20 साल बाद उत्तर कोरिया का दौरा

विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग पहुंच कर वहां के लीडर किम जोंग उन के मंत्रिमंडल के आला अधिकारियों के साथ वार्ता की है। जनरल सिंह की यह यात्रा सिर्फ इसलिए महत्वपूर्ण नहीं है कि भारत व उत्तर कोरिया के बीच दो दशकों के बाद सरकारी स्तर पर बातचीत हुई है, बल्कि इससे कूटनीतिक लिहाज से भारत के बढ़ते आत्मविश्वास का भी पता चलता है।

विदेश मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि उत्तर कोरिया सरकार के अनुरोध पर दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे जनरल सिंह वहां सुप्रीम पीपुल्स एसेंबली के प्रेसिडियम (उत्तर कोरिया में कानून बनाने वाली सर्वोच्च संस्था) के वाइस प्रेसिडेंट किम यांग डाई, विदेश मंत्री री यांग हो, संस्कृति मंत्री पाक चुन नाम, उप विदेश मंत्री चो हुई चोल से मुलाकात की। इस दौरान दोनों देशों के बीच मौजूदा कूटनीतिक, आर्थिक, शैक्षणिक व संस्कृति से जुड़े सहयोग के मुद्दों पर चर्चा हुई।

भारत ने अपने पड़ोसी देश में परमाणु ऊर्जा से जुड़ी तकनीकी के गैर-कानूनी कारोबार को लेकर अपनी चिंताएं जताई। दोनों देशों के बीच कई क्षेत्रों में करीबी सहयोग स्थापित करने को लेकर भी बातचीत हुई है।

यह सहमति भी बनी है कि दोनों देशों की आम जनता के बीच ज्यादा करीबी रिश्ते स्थापित किये जाए। योगा और पारंपरिक चिकित्सा पद्धति क्षेत्र में भारत की तरफ से दी जाने वाली मदद को लेकर भी चर्चा हुई है। अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध के बाद किस तरह से द्विपक्षीय कारोबार को आगे बढ़ाया जाए, इस पर भी चर्चा हुई है।

TOPPOPULARRECENT