त्रिपुरा में बीजेपी सरकार आते ही भगवा संगठन एक्टिव, नागरिकता साबित करने के लिए मुसलमानों से मांगे जा रहे हैं सबूत!

त्रिपुरा में बीजेपी सरकार आते ही भगवा संगठन एक्टिव, नागरिकता साबित करने के लिए मुसलमानों से मांगे जा रहे हैं सबूत!

अगरतला: उत्तर-पूर्वी राज्य त्रिपुरा में सत्ता में आने के बाद, भगवा दलों ने वातावरण में सांप्रदायिक जहर फैलाना शुरू कर दिया है।

विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने आज गाय की वध के खिलाफ एक रैली निकाली और ‘देश नही बांटने देंगे, गाय नहीं काटने देंगे’ जैसी नारे लगाए।

उन्होंने पश्चिम त्रिपुरा के पश्चिम जॉयनगर गांव में लोगों को खुलेआम घोषित किया था कि वे गाय की कत्तल से दूर रहें या फिर परिणाम के लिए तैयार हों जाएं।

इतना ही नहीं, उन्होंने मुसलमानों को धमकी दी और उनसे यह साबित करने के लिए आधार कार्ड दिखाने के लिए कहा कि वे भारतीय हैं।

त्रिपुरा के लोगों के लिए ऐसा विरोध नया और आश्चर्यजनक है। विपक्ष ने भगवा दलों की रैली की कड़ी निंदा की है।

Top Stories