ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग मामले में डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन आमने-सामने

ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग मामले में डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन आमने-सामने
U.S. President Donald Trump speaks to reporters in the Rose Garden after a meeting with U.S. Congressional leaders about the U.S. government shutdown and border security at the White House in Washington, U.S., January 4, 2019. REUTERS/Carlos Barria

डेमोक्रेट्स ने सोमवार (9 दिसंबर) को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग के मामले में अपना पक्ष रखते हुए उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा के खिलाफ ”स्पष्ट खतरा” करार दिया। वहीं रेपब्लिकन ने आरोपों को खारिज करते हुए इसे ”राजनीति” से प्रेरित बताया। ट्रम्प पर आरोप हैं कि उन्होंने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में संभावित प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन समेत अपने प्रतिद्वंद्वियों की छवि खराब करने के लिए यूक्रेन से गैरकानूनी रूप से मदद मांगी।

डेमोक्रेट्स के वकील डेनियल गोल्डमैन ने कहा, ”राष्ट्रपति ट्रम्प का एक विदेशी देश पर जबरदस्ती चुनाव जीतने और धोखा देने में मदद के लिए दबाव बनाना, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव और हमारे देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए स्पष्ट मौजूदा खतरा है।” इन सभी अरोपों को खारिज करते हुए रिपब्लिकन डॉग कॉलिन्स ने कहा कि डेमोक्रेट्स का राष्ट्रपति चुनाव से पहले यह कदम महज प्रचार पाने का तरीका है।

कॉलिन्स ने कहा, ”यह केवल राजनीति है।” उन्होंने कहा, ”महाभियोग अपराध कहा हैं? हम यहां क्यों हैं?” अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही सोमवार (9 दिसंबर) को संसद की न्यायिक समिति की सुनवाई के मद्देनजर नये चरण में पहुंची, जहां दोनों पक्षों ने अपने पक्ष रखें।

ट्रम्प ने खुद भी इस जांच को ”फर्जी बताकर इसकी आलोचना की है लेकिन डेमोक्रेट्स का मानना है कि उनके पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि ट्रम्प ने देश के ऊपर अपने निजी राजनीतिक हितों को तरजीह दी।”

Top Stories