हमने दुनिया के सभी हिस्से से आतंकियों को खदेड़ा है- ट्रम्प

हमने दुनिया के सभी हिस्से से आतंकियों को खदेड़ा है- ट्रम्प

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को देश के 244 वें स्वतंत्रता दिवस पर देश के नाम संदेश दिया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी।

 

भास्कर डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘244वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और अमेरिकी लोगों को बधाई देता हूं।

 

दुनिया केसबसे बड़े लोकतंत्र के तौर पर हम स्वतंत्रता और मानवीय मूल्यों की तरजीह देते हैं।’’ ट्रम्प ने इसके जवाब में ट्वीट किया, ‘‘शुक्रिया मेरे दोस्त, अमेरिका भारत को प्यार करता है।’’

 

ट्रम्प ने इस मौके पर एक बार फिरकोरोना फैलाने के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, ‘‘चीनी वायरस (कोरोना) के पहुंचने से पहले देश का प्रदर्शन अच्छा था। दशकों से अमेरिका का फायदा उठा रहे देशों परटैरिफ लगाया गया।

 

इससे हमें कुछ अच्छे ट्रेड डील्स करने में मदद मिली। हमारे खजानों में अरबों रुपए आने शुरू हुए। लेकिन, इसी बीच हम चीन से पहुंचे वायरस की चपेट में आ गए।’’

 

ट्रम्प ने साउथ डकोटा में हुए स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में कहा, ‘‘हम अपने तरीके से लड़कर महामारी से जीतने के करीब हैं। अब देश में गाउन, मास्क और सर्जिकल इक्विपमेंट तैयार हो रहे हैं।

 

पहले ये विदेश में खास तौर पर चीन में तैयार होते थे। उसी देश में, जहां से वायरस हमारे देश में पहुंचा।

 

चीन ने वायरस को छिपाया, दुनिया को धोखे में रखा और इससे होने वाले नुकसान पर पर्दा डालने कीकोशिश की, जिससे यह पूरी दुनिया में फैला। चीन कोसंक्रमण फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।’’

 

ट्रम्प ने कहा कि अमेरिका के नायकों ने नाजियों को हराया, फासिस्ट‌ ताकतोंको गद्दी से हटाया और कम्युनिस्टों की सत्ता पलटी। उन्होंने अमेरिका के मूल्यों और सिद्धांतों को बचाया।

 

हमने दुनिया के सभी हिस्से से आतंकियों को खदेड़ा है।अब हम कट्‌टर वामपंथियों और तोड़फोड़ करने वालों को हराने में जुटे हैं।

 

अमेरिका में अश्वेतों के समर्थन में हो रहे प्रदर्शन के दौरान लूटपाट करने वालों को इस बात का अंदाजा तक नहीं कि वे क्या कर रहे हैं।

 

ट्रम्प के जुलाई चौथे पते के बाद, कुछ प्रदर्शनकारियों ने देश में नस्लीय अन्याय के विरोध में व्हाइट हाउस के पास लाफेट स्क्वायर के बाहर एक अमेरिकी झंडा जलाया, स्थानीय मीडिया ने बताया।

 

जैसे ही झंडा जलाया गया, प्रदर्शनकारियों ने “गुलामी, नरसंहार और युद्ध” और “अमेरिका कभी महान नहीं था” का जाप किया।

 

मैरीलैंड राज्य के बाल्टीमोर में, प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने इतालवी मूल के खोजकर्ता क्रिस्टोफर कोलंबस की एक प्रतिमा को फाड़ दिया और शनिवार रात उसे पानी में फेंक दिया।

Top Stories