Tuesday , April 24 2018

अमित शाह ने कांग्रेस को दिया ‘तोहफा’, अहमियत भी बताई- कांग्रेस

भारतीय जनता पार्टी प्रमुख अमित शाह ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान ग़लती से कह दिया, ”भ्रष्टाचार के लिए अगर स्पर्धा कर ली जाए तो येदियुरप्पा सरकार को भ्रष्टाचार में नंबर वन सरकार का अवॉर्ड ज़रूर मिलेगा…’

अमित शाह  ने जैसे ही अपनी ये बात पूरी की, तभी उनके बाईं ओर बैठे कर्नाटक के पूर्व प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष प्रह्लाद जोशी ने कहा- ‘सिद्धारमैया बोलना है.’

और अमित शाह के दाईं तरफ़ बैठे भाजपा के कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद के दावेदार बीएस येदियुरप्पा ने उन्हें हैरानी से देखा.

नौ सेकेंड के इस वीडियो में यह नज़ारा दिखाई पड़ता है, जिसे कांग्रेस पार्टी सोशल मीडिया पर प्रमोट कर रही है.

कांग्रेस ने कहा- गिफ़्ट है ये

कांग्रेस पार्टी का सोशल मीडिया संभालने वाली दिव्या स्पंदन ने इसे मंगलवार सुबह ट्विटर पर पोस्ट किया था.

इसके बाद राहुल गांधी समेत कई दूसरे कांग्रेसी नेताओं ने भी इस वीडियो को शेयर किया.

राहुल गांधी ने इसे शेयर करते हुए लिखा, “भाजपा की आईटी सेल ने चुनाव आयोग से पहले ही कर्नाटक चुनाव की तारीख़ें जारी कर दीं. फिर ये वीडियो भी आया. ये वीडियो भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने हमें तोहफ़े में दिया है. वो कह रहे हैं कि येदियुरप्पा की सरकार अब तक की सबसे भ्रष्ट सरकार रही है. सही है. कर्नाटक चुनावों की ये अच्छी शुरुआत है.”

दरअसल, इस वीडियो को कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तारीख़ें जारी होने के बाद कर्नाटक के दावणगेरे शहर में हुई भाजपा की प्रेस कॉन्फ़्रेंस से निकाला गया है.

क़रीब आधा घंटा चली प्रेस कॉन्फ़्रेंस में अमित शाह ने सिद्धारमैया सरकार की तमाम खामियां गिनवाईं.

अमित शाह कहना क्या चाहते थे?

प्रेस कॉन्फ़्रेंस के 16वें मिनट में अमित शाह की ज़बान फिसली और उन्होंने सिद्धारमैया की जगह येदियुरप्पा का नाम ले लिया.

अपनी बात को ठीक करते हुए उन्होंने कहा, “सबसे भ्रष्ट सरकार होने का ये आरोप मैं ख़ुद से नहीं लगा रहा. एक रिटायर्ड सुप्रीम कोर्ट ने जज ने सिद्धारमैया सरकार के बारे में ऐसी टिप्पणी की है.”

लेकिन सोशल मीडिया पर लोगों ने अमित शाह के इस वीडियो पर जमकर चुटकी ली.

’28 घंटे काम करने का नतीजा’

सॉफ़्टवेयर इंजीनियर रतन मदनानी ने लिखा है कि अमित शाह को पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए पाँच साल के लिए निष्कासित किया जाता है.

नीलिमा सिंह ने लिखा है कि सच तो सच है, ज़ुबान पर आ ही जाता है.

पंकज कुमार ने लिखा है कि दिन में 28-28 घंटे काम करेंगे तो यही तो होगा.

बबलू खान ने फ़ेसबुक पर लिखा, “भ्रष्टाचार भाजपा का सबसे बड़ा तीर है. हर जगह चलाते हैं. कई बार तो उल्टा भी चला देते हैं.”

नीलेश ने लिखा है कि अमित शाह ने जो कहा, ग़लत कहा. लेकिन येदियुरप्पा से माफ़ी केजरीवाल मांगेंगे.

TOPPOPULARRECENT