Thursday , April 26 2018

मुसलमानों ने येरूश्लम पर लापरवाही दिखाई तो मक्का और मदीना भी उनके हाथों से निकल जायेगा-अर्दोगान

तुर्क राष्ट्रपति रजब तैय्यब अर्दोगान ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर मुसलमानों ने येरूश्लम के बारे में कोई लापरवाही दिखाई तो मक्का भी उनके हाथों से निकल सकता है।

अर्दोगान ने कहा कि “अगर हमने येरूश्लम (बैतुल मुक़द्दस खो दिया तो हम मदीना को नहीं बचा पायेंगे। अगर मदीना हमारे हाथों से निकल गया तो हम मक्का भी नहीं बचा पायेंगे।”

तुर्की के राष्ट्रपति का कहना था कि येरूश्लम को इस्राईल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के अमरीका के फ़ैसले को पलटना बहुत ज़रूरी है, अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम इस्लाम के अन्य पवित्र स्थलों को भी खो बैठेंगे।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के इस फ़ैसले का जहां विश्व भर में मुसमलान कड़ा विरोध कर रहे हैं, वहीं तुर्क राष्ट्रपति अर्दोगान ने भी ट्रम्प का खुलकर विरोध किया है। केवल इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने उन मुस्लिम देशों की भी कड़ी निंदा की है, जिन्होंने ट्रम्प के इस फ़ैसले पर कमज़ोर प्रतिक्रिया जताई है।

शनिवार को अर्दोगान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से मांग की थी कि ट्रम्प के फ़ैसले को निरस्त कर दे। उनका कहना था कि अगर सुरक्षा परिषद इस बारे में कोई क़दम उठाने में नाकाम रहती है तो अमरीकी फ़ैसला का जवाब देने के लिए तुर्की जो ज़रूरी होगा वह करेगा।

ग़ौरतलब है कि मुस्लिम देशों के संगठन ओआईसी ने बुधवार को तुर्की के इस्तांबुल शहर में अमरीकी राष्ट्रपति डोन्लड ट्रम्प के इस फ़ैसले की निंदा करते हुए पूर्वी येरूश्लम को फ़िलिस्तीन की राजधानी घोषित किया था।

संयुक्त राष्ट्र संघ पूर्वी येरूश्लम पर इस्राईल के क़ब्ज़े को अवैध मानता है।

TOPPOPULARRECENT