Wednesday , September 19 2018

अगर हमने अभी इजराइल के खिलाफ आवाज़ नहीं उठायी तो देर हो जायेगा, मुस्लिम देश तैयार हो जायें- एर्दोगन

एर्दोगान ने इजराइल के फिलिस्तीनियों पर बेइन्तेहा ज़ुल्मों सितम पर करने के पर आवाज़ उठाते हुए दुनिया को यह चेतावनी दी है कि अगर हमने अभी इजराइल के खिलाग्फ़ आवाज़ नहीं उठायी तो जल्द ही दुनिया में अराजकता का माहौल कायम हो जाएगा।

साथ ही एरदोगन ने दुनियाभर के देशों के उन नेताओं पर भी निशाना साधा जो फिलिस्तीन मुद्दे पर आवाज़ नहीं उठा रहे है। अरब न्यूज़ के मुताबिक, एर्दोगान ने दुनिया के उन सभी नेताओं को फटकार लगाते हुए कहा कि, आखिर तुम सब ने इजराइल की दरिंदगी पर चुप्पी क्यों साध राखी है।

एर्दोगान ने अंकारा में एक सम्मलेन में कहा कि, “अगर इजरायल के अत्याचार पर चुप्पी जारी रहेगी, तो दुनिया में तेजी से अराजकता फ़ैल जाएगा जिसके काबू करना बहुत मुश्किल हो जाएगा।

यूनाइटेड नेशन का इजराइल के खिलाफ कोई कदम ना उठाने पर एर्दोगान ने कहा कि “इस सप्ताह के शुरू में विरोध प्रदर्शन के दौरान गाजा पट्टी में 62 फिलिस्तीनियों की हत्या के दौरान इजरायली सुरक्षा बलों के साथ सामना करते समय यूनाइटेड नेशन समाप्त हो गया था।

बुधवार को तुर्की की राजधानी अंकारा में एर्दोगान ने गाजा में इसरायली गोलीबारी से हुई फिलिस्तीनियों की हत्या पर संयुक्त राष्ट्र के निरंतर जवाबों में कमी आने की वजह से कहा की “यूनाइटेड नेशन खत्म हो चुका है, क्योंकी वह इतने बड़े नरसंहार के बाद भी खामोश है।

सोमवार को गाजा में ताजा हिंसा करते हुए इजरायल की सेना ने विरोध प्रदर्शन के दौरान 62 फिलिस्तीनियों की हत्या कर दी, तो संयुक्त राज्य अमेरिका ने औपचारिक रूप से तेल अवीव से यरूशलम में अपने दूतावास को स्थानांतरित कर दिया।

जेरूसलम में यूएस एम्बेसी के उद्घाटन के दौरान एक तरफ मातम था तो दूसरी तरह इजराइल और अमेरिका साथ मिलकर जश्न में डूबे थे।

एर्दोगान शुक्रवार यानी आज को इस्तांबुल में इस्लामिक कोऑपरेशन संगठन (ओआईसी) के विश्व के मुख्य पैन-इस्लामी निकाय के शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा।

बुधवार को, एर्दोगान ने यह भी कहा कि गाजा के खून से पता चला है कि संयुक्त राष्ट्र अब खत्म हो चूका है, क्योंकि वह फिलिस्तीन में हो रहे ज़ुल्म के लिए चुप है।

साभार- ‘वर्ल्ड न्यूज अरबीया’

TOPPOPULARRECENT