Tuesday , July 17 2018

यरुशलम पर मुस्लिम देशों को एक साथ लाने में तुर्की की अहम भूमिका रही है- फलस्तीन

संयुक्त राष्ट्र में यरुशलम पर वोटिंग के बाद फलस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास के प्रवक्ता नबील अबू ने कहा, “यह वोट फलस्तीन की जीत है.

हम संयुक्त राष्ट्र और दूसरे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर इस कब्जे के खिलाफ और पूर्वी येरुशलम के साथ फलस्तीन राष्ट्र को स्थापित करने की कोशिश करते रहेंगे.” प्रस्ताव के पक्ष में देशों को लामबंद करने में तुर्की की भी बड़ी भूमिका रही है.

वोटिंग के बाद तुर्की के राष्ट्रपति रेजेप तेईप एर्दोवान ने कहा, “मि. ट्रंप आप तुर्की की लोकतांत्रिक इच्छाशक्ति को अपने डॉलरों से नहीं खरीद सकते. डॉलर वापस आ सकते हैं लेकिन इच्छाशक्ति एक बार बिक जाए तो वापस नहीं आ सकती.”

वोटिंग के बाद इस्राएल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा, “येरुशलम हमारी राजधानी है, हमेशा थी और हमेशा रहेगी. लेकिन मैं इस बात की तारीफ करूंगा कि ऐसे देशों की तादाद बढ़ रही है जो इस बेतुके नाटक में शामिल होने से इनकार कर रहे हैं.”

TOPPOPULARRECENT