पूर्वजों को हिंदू ब्राह्मण बताने पर ओवैसी ने कहा- मेरे सारे परदादा पैगंबर आदम के यहां से आए हैं

पूर्वजों को हिंदू ब्राह्मण बताने पर ओवैसी ने कहा- मेरे सारे परदादा पैगंबर आदम के यहां से आए हैं
Click for full image

आरएसएस से जुड़े विचारक राकेश सिन्हा ने गुरुवार को एआइएमआइएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी के पूर्वजों को हिंदू ब्राह्मण बताकर सोशल मीडिया पर एक नया विवाद पैदा कर दिया। प्रोफेसर सिन्हा ने अपने ट्वीटर अकाउंट से ओवैसी को संबोधित करते हुए कहा कि आपके पुरखे हैदराबाद के ब्राह्मण थे। धर्मांतरण आपकी राष्ट्रीय इतिहास और पुरखों को नहीं बदलता।

बाद इसके ओवैसी ने पटलवार करते हुए ट्विट किया कि नहीं, मेरे परदादा, उनके परदादा और सारे परदादा पैगंबर आदम के यहां से आए हैं।

ओवैसी के जवाब पर सिन्हा ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा कि आपका बहुत सम्मान करते हुए मैं कहता हूं कि हमारा डीएनए एक ही है। आपके पूर्वज स्वदेशी थे और किसी विदेशी मिट्टी से नहीं आए थे। हिंदू तो सभ्यतामूलक परिभाषा है।

दो विपरीत विचारधाराओं के इन नेताओं की टिप्पणियों के बाद गुरुवार को संघ बनाम शाखा और आदम बनाम मोहम्मद साहब की जंग छिड़ गई।

दरअसल पिछले दिनों संसद में प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व प्रधामनंत्री मनमोहन सिंह पर हमला करते हुए भ्रष्टाचार से बेदाग रहने के संदर्भ में कहा था कि ‘बाथरूम में रेनकोट पहन कर नहाने की कला तो मनमोहन सिंह ही जानते हैं’। इसी संदर्भ में ओवैसी ने 2002 में हुए गुलबर्ग सोसायटी जनसंहार से प्रधानमंत्री मोदी के जुड़े होने को लेकर तीखे सवाल किए थे।

उन्होंने लिखा कि अगर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बाथरूम में रेनकोट पहना हुआ था तो उस समय आपने क्या पहना हुआ था जब आपके मुख्यमंत्री रहते एहसान जाफरी और दूसरों की हत्याएं की जा रही थी। रेनकोट वाले बयान पर विपक्ष के तीखे हमले का जवाब देने के लिए संघ विचारकों का खेमा भी मुस्तैदी से जुट गया जिसका नतीजा ओवैसी के पूर्वजों का डीएनए खोजने तक पहुंचा।

Top Stories