Saturday , April 21 2018

आईएसआई से लिंक पर दो साल उत्पीड़न के बाद 3 के खिलाफ राजद्रोह का मामला बंद

Judges gavel and law books stacked behind

हैदराबाद। विशेष जांच दल (एसआईटी) ने कहा है कि वह तीन संदिग्धों के खिलाफ देशद्रोह मामले को बंद करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। दो साल से अधिक गंभीर पूछताछ और जेल में रहने के बाद शहर के इन 3 लोगों को अंततः राहत मिलेगी।

एक शीर्ष ख़ुफ़िया विभाग के अधिकारी ने कहा कि एक राष्ट्रीय समाचार चैनल जिसने इनके खिलाफ आईआईएसएस के साथ सम्बन्ध होने की खबर चलाई थी वह सबूत प्रस्तुत करने में नाकाम रहा है। जांच एजेंसी को तीनों के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला। चैनल कथित रूप से स्टिंग ऑपरेशन के वीडियो (मूल टेप) के रूप में सबूत प्रस्तुत करने के लिए एसआईटी को चकमा दे रहा है।

1 9 मई, 2017 को अब्दुल्ला बासित, सलमान मोहिउद्दीन कादरी और हन्नान कुरेशी को लेकर निजी टेलीविजन चैनल आईएसआईएस से लिंक होने को लेकर प्रसारित किया। खुलासे के बाद एसआईटी ने मामला दर्ज किया था। उन्हें पूछताछ के लिए ले जाया गया और बाद में एक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था।

TOPPOPULARRECENT