UAE: अरबों की धोखाधड़ी में दो भारतीयों को 500-500 साल की सज़ा

UAE: अरबों की धोखाधड़ी में दो भारतीयों को 500-500 साल की सज़ा

दुबई: दुबई की एक अदालत ने 20 करोड़ डॉलरज के फ्रोड में लिप्त भारत से संबंध रखने वाले दो आरोपियों को पांच पांच सो साल की क़ैद का आदेश दिया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अमीराती अख़बार की न्यूज़ के अनुसार विशेष अदालत ने गोवा के रहने वाले सिडनी लेमोस और उसके सीनियर एकाउंटेंट स्पेशलिस्ट रियान डी सूजा को रविवार को यह सज़ा सुनाई थी। अदालत जे जज डॉक्टर मोहम्मद हनफी ने सिडनी लेमोस की पत्नी विलानी को भी उसकी गैर मौजूदगी में 517 साल की सज़ा सुनाई है।

वह उस समय कथित तौर पर ऑस्ट्रेलिया में है। अमीराती नागरिकों और वहां रह रहे विदेशी शरणार्थियों से फ्रोड और धोके के जरिए पैसे हथियाने के इस स्कैंडल में शामिल इन दोनों लोगों को हर एक केस में एक, एक साल क़ैद की सज़ा सुनाई गई है। वह संयुक्त तौर पर 73 करोड़ 46 लाख अमीराती दिरहम के फ्रोड में शामिल थे और उन पर 515 फौजदारी मुक़दमे दायर किए गए थे।

इस तरह उन्हें संयुक्त तौर पर 515-515 साल की सज़ा भुगतनी होगी। वह इस सज़ा के खिलाफ अपील दायर कर सकते हैं। उसकी मंज़ूरी की स्थिति में भी उन्हें दुबई की अल्वेर में स्थित सेंट्रल जेल में उम्रकैद की सज़ा भुगतनी पड़ेगी। यह तीनों लोगों को लोगों को भारी मुनाफ़ा का झांसा देकर पैसे हथियाने वाली कंपनी एग्ज़नशील के मालिक थे।

Top Stories