Sunday , April 22 2018

लन्दन : मुसलमानों ने नफरत का जवाब ‘लव ए मुस्लिम डे’ से दिया

लंदन। मुसलमानों पर हमला करने को प्रोत्साहित करने वाले पोस्टर के जवाब में मुसलमानों से मोहब्बत करने के लिए प्रोत्साहित करने वाला एक पोस्टर वायरल हो रहा। एक नया पोस्टर जिसका नाम ‘लव ए मुस्लिम डे, को रखा गया है। पिछले हफ्ते यूके भर में कम से कम पांच शहरों में कई पन्नों पर अज्ञात पत्र पोस्ट किए गए थे जिसमें मुसलमानों को सज़ा देने सम्बन्धी सन्देश था।

पत्र में लोगों को मौखिक और शारीरिक रूप से मुसलमानों पर हमला करने के लिए कहा जाता है और अपराध की गंभीरता के आधार पर अंक देने की बात कही गई है जिसमें मुस्लिम महिला से स्कार्फ खींचने के लिए 25 अंक, एक मुस्लिम की हत्या के लिए 500 अंक और मक्का पर परमाणु हमले के लिए 2,500 अंक रखे गए हैं।

आतंकवाद विरोधी यूनिट अधिकारी विभिन्न शहरों में कई लोगों द्वारा प्राप्त घृणित पत्र के बारे में जांच कर रहे हैं जिसमें मुसलमानों पर हमले की बात की गई है। अब इसके जवाब में मुस्लिम समुदाय ने 3 अप्रैल को ‘लव ए मुस्लिम डे’ मनाने का आह्वान किया है। मार्टिन लूथर किंग का हवाला देते हुए कहा गया है कि अँधेरा अंधेरे से बाहर नहीं निकल सकता, केवल प्रकाश ऐसा कर सकता है।

नफरत, नफरत से नहीं ख़त्म की जा सकती केवल प्यार से समाप्त की जा सकती है। ‘लव ए मुस्लिम डे, के दौरान पुण्य के कामों को सूचीबद्ध कर सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से साझा किया जा रहा है।

शादाब अदरीश कहते हैं कि मुस्लिम समुदाय से मैंने जो प्रतिक्रियाएं देखी हैं वह वास्तव में सकारात्मक हैं, लेकिन सबसे उल्लेखनीय बात यह है कि जो प्रतिक्रियाएं प्राप्त हो रही है वे लोग मुस्लिम नहीं हैं। उन्हें उम्मीद है कि उनका विचार लोगों को एक साथ लाएगा। ‘लव ए मुस्लिम डे’ 3 अप्रैल को मनाया जायेगा।

TOPPOPULARRECENT