Monday , July 16 2018

यूनिसेफ का दावा : दुनिया में बाल विवाह में तेजी से कमी आई है

विश्व में पिछले एक दशक में बाल विवाह में तेजी से कमी आई है। संयुक्त राष्ट्र की बच्चों से संबंधित एजेंसी यूनिसेफ ने कहा कि 10 साल पहले 47 प्रतिशत लड़कियों का विवाह 18 वर्ष की उम्र से पहले कर दिया जाता था जो अब घटकर 27 प्रतिशत रह गया है। यूनिसेफ ने इस कमी के पीछे लड़कियों की शिक्षा, किशोरियों के लिए सरकार का सक्रिय निवेश और बाल विवाह की अवैधता और उसके नुकसान को लेकर मजबूत जन जागरुकता को कारण बताया है।

भारत में हुई इस कमी ने वैश्विक स्तर पर बाल विवाहों की संख्या में कमी लाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कुल मिलाकर बाल्यावस्था में शादी करने वाले लड़कियों के अनुपात में 15 प्रतिशत कमी आई है। यूनिसेफ द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक पिछले दस सालों में ढाई करोड़ बाल विवाह रोके गए। इनमें सबसे ज्यादा कमी दक्षिण एशिया में दर्ज की गई, जहां भारत सबसे ऊपर था।

उत्तर प्रदेश में आंगनबाड़ी केंद्रों की हालत में सुधार लाने के लिए यूनिसेफ ने अपनी तरफ से एक प्रयास शुरू किया है और इसमें लोगों का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। पहले आंगनबाड़ी में बच्चे आने से कतराते थे, लेकिन अब यूनिसेफ की पहल से तस्वीर लगातार बदल रही है। यूनिसेफ ने इस कमी के पीछे लड़कियों की शिक्षा, किशोरियों के लिए सरकार का सक्रिय निवेश और बाल विवाह की अवैधता और उसके नुकसान को लेकर मजबूत जन जागरुकता को कारण बताया है।

TOPPOPULARRECENT