Thursday , December 14 2017

UPA के बनाये समाजिक और आर्थिक ढांचे को मोदी सरकार ने ध्वस्त कर दिया- सोनिया गांधी

नई दिल्ली। मंगलवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने की। जहां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर जम्मू-कश्मीर में असफल रहने, भय, असहिष्णुता तथा विभाजनकारी नीति को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि 3 साल में इस सरकार ने सामाजिक और आर्थिक विकास के ढांचे को ध्वस्त कर दिया है।

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि उसके पास कोई नीति नहीं है और सामाजिक तथा आर्थिक विकास को जो ढांचा पिछली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने तैयार किया था, मोदी सरकार ने उसे भी ध्वस्त किया है।

उन्होंने कहा कि जम्मू -कश्मीर में अपेक्षाकृत शांति का माहौल था लेकिन पिछले तीन साल के दौरान वहां संघर्ष, तनाव और भय का माहौल बढ़ा है। देश में सामाजिक सौहार्द का माहौल टूटा है और अहिष्णुता बढ़ी है, जिसके कारण जगह जगह पीट पीटकर मारने की घटनाएं हो रही हैं। दलितों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ी हैं। महिलाओं के खिलाफ इस दौरान आपराधिक घटनाएं बढ़ी हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अपनी बड़ी सफलता का प्रदर्शन करने के लिए यह सरकार नोटबंदी की नीति लेकर आई लेकिन इससे देश को बड़ा आर्थिक नुकसान हुआ है।

सरकार अब तक यह बताने की स्थिति में नहीं है कि नोटबंदी के बाद पुराने नोट कितना बैंकों में लौटे हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि रिजर्व बैंक नोट गिनना भूल गया है बल्कि इससे पता चलता है कि नोटबंदी की योजना कितनी विनाशकारी थी।

मोदी सरकार पर सत्ता का दुरुपयोग करके लोगों की आवाज दबाने का अरोप लगाते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि सरकार के स्वर में जो स्वर नहीं मिलाता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है। उसे डराया और धमकाया जाता है और भय का माहैाल पैदा किया जाता है।

TOPPOPULARRECENT