अमेरिका: लुईवेल इन्टरनेश्नल हवाई अड्डे का नाम मुहम्मद अली इन्टरनेश्नल एयरपोर्ट रखने का फैसला

अमेरिका: लुईवेल इन्टरनेश्नल हवाई अड्डे का नाम मुहम्मद अली इन्टरनेश्नल एयरपोर्ट रखने का फैसला

अमरीकी राज्य कैन्टेकी के शहर लुईवेल के हवाई अड्डे के नाम लिजेंड बॉक्सर मुहम्मद अली से जोड़ने का फ़ैसला कर लिया गया। अमरीकी समाचार एजेन्सी सीएनएन की रिपोर्ट एक साल से अधिक समय तक शोध के बाद वर्किंग ग्रुप की ओर से इस प्रस्ताव पर वोटिंग की गयी जिसके बाद शहर के प्रशासन ने घोषणा की कि हवाई अड्डे का नम लुईवेल इन्टरनेश्नल हवाई अड्डे के बजाए लुईवेल मुहम्मद अली इन्टरनेश्नल एयरपोर्ट रखा जाएगा।

ज्ञात रहे कि लुईवेल हवाई अड्डे का नाम मुहम्मद अली के नाम पर रखने का फ़ैसला, 17 जनवरी को उनके 77वें जन्म दिवस से एक दिन पहले किया गया।

इस हवाले से एयरपोर्ट अथार्टी बोर्ड के चेयरमैन जेम वेलेच ने एक बयान में कहा कि यह कार्यवाही दुनिया को बताएगी कि हम अपने महान व्यक्ति पर कितना गर्व करते हैं कि न केवल हमारे शहर बल्कि हमारे बड़े एयरपोर्ट से उन्हें जोड़ रहे हैं।

दूसरी ओर लिजेंड बॉक्सर मुहम्मद अली की पत्नी लूनी अली ने नाम बदलने का समर्थन करते हुए कहा कि मैं ख़ुश हूं कि दुनिया भर से लुईवेल आने वाले लोगों को मुहम्मद अली से जोड़ने का एक और मौक़ा मिलेगा। उनकी खुली और व्यापक हस्ती की याद दिलाएगा जो इस शहर का प्रतिबिंबन है।

उधर लुईवेल के मेयर ग्रेग फ़िशर ने एक ट्वीट में कहा कि मुहम्मद अली ने मानवता और एथलिटवाद की धरोहर छोड़ी है जिसने अरबों लोगों को प्रभावित किया।

ज्ञात रहे कि विश्व विख्यात अमरीकी बॉक्सर मुहम्मद अली अमरीकी राज्य केन्टेकी के शहर लुईवेल से ही संबंध रखते थे और इसीलिए उनके पैतृक शहर के हवाई अड्डे को उनके नाम पर रखने का फ़ैसला किया गया है।

17 जनवरी 1942 को जन्म मुहम्मद अली नाम केसियस मारस्लिस किले जूनियर था Cassius Marcellus Clay, Jr) था किन्तु उन्होंने 1964 में इस्लाम स्वीकार कर लिया जिसके बाद उन्होंने अपना नाम मुहम्मद अली रख लिया और अपने कैरियर की शुरुआत बॉक्सिंग से किया और विश्वविख्यात हुए।

20वीं शताब्दी के महान बॉक्सर मुहम्मद अली ने 1984 में पारकिसन्स बीमारी का पता चलने के बाद बॉक्सिंग छोड़ दी थी और 2016 में 3 जून को वह इसी बीमारी से लड़ते हुए इस दुनिया से चले गये।

साभार- ‘parstoday.com’

Top Stories