Sunday , September 23 2018

भारतीय मूल का ब्रिटिश आतंकी सिद्धार्थ दार वैश्विक आतंकवादी घोषित

अमेरिका ने भारतीय मूल के इस्लामिक स्टेट के ब्रिटिश आतंकी सिद्धार्थ धार और बेल्जियन मूल के मोरक्को के नागरिक को वैश्विक आतंकी घोषित किया है और उन पर प्रतिबंध लगाया है। दार ब्रिटेन में रहने वाला हिंदू है जो धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बन गया था। उसने अपना नाम अबू रुमैसाह रख लिया है। 2014 में रुमैसाह को यूके से पुलिस जमानत मिली थी जिसके बाद वह फरार होकर अपनी पत्नी और बच्चों के साथ सीरिया चला गया था।

एक यजीदी लड़की निहाद बरकात ने मई 2016 में दार ने ही किडनैप किया था और आईएसआईएस के गढ़ मोसुल ले गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि दार ने ‘जिहादी जॉन’ की जगह ले ली और आतंकी संगठन का सीनियर कमांडर बन गया। अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट ने आईएसआईएस के दो आतंकी सिद्धार्थ धार और अब्दुल लतीफ गनी को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया है।

इस प्रतिबंध के बाद अमेरिका में स्थित दार और गनी की संपत्ति जब्त हो जाएगी और अमेरिका का कोई भी नागरिक उनसे किसी तरह का लेन-देन नहीं कर पाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक दार अल मुहाजिरुन नाम के आतंकी संगठन का मुख्य सदस्य था। यह संगठन अब खत्म हो गया है।

ऐसा माना जाता है कि उसने आईएसआईएस के मोहम्मद एमवाजी की जगह ले ली है। एमवाजी को ‘जिहादी जॉन’ के नाम से जाना जाता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जनवरी 2016 में यूके के लिए जासूसी करने वाले कई कैदियों की आईएसआईएस ने गला काटने का विडियो जारी किया था। उस विडियो में मास्क पहने जो शख्स था, वह दार ही है।

TOPPOPULARRECENT