सऊदी अरब के राजकुमार ने जमाल खशोगी की हत्या की मंजूरी दी थी- US रिपोर्ट

, , ,

   

सऊदी अरब के राजकुमार मोहम्मद बिन सलमान अमेरिकी पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में बुरी तरह फंसते नजर आ रहे हैं।

ADVERTISEMENT

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, खशोगी वाशिंगटन पोस्ट अखबार के लिए लिखते थे।

उन्हें अक्टूबर 2018 में इस्तांबुल में सऊदी वाणिज्य दूतावास में लालच देकर बुलाया गया था, फिर उनकी हत्या कर लाश को टुकड़ों में काट दिया गया था।

अमेरिकी प्रेसिडेंट जो बिडेन ने खशोगी की हत्या पर एक ख़ुफ़िया जांच रिपोर्ट को सार्वजानिक किया है जिसमें बताया गया है कि सऊदी अरब के राजकुमार ने ही जमाल खशोगी की हत्या की मंजूरी दी थी।

अमेरिकी रिपोर्ट में पत्रकार को दी गयी यातना के बारे में खुलासा किया गया है।

ADVERTISEMENT


अमेरिकी इंटेलिजेंस टीम की रिपोर्ट में कहा गया है कि सऊदी राजकुमार बिन सलमान ने सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी को पकड़ने या मारने के लिए इस्तांबुल (तुर्की) में एक ऑपरेशन को मंजूरी दी थी।

प्रिंस मोहम्मद के प्रभाव को देखते हुए, यह इस बात की संभावना नहीं थी कि 2018 में की गई हत्या उनकी मंजूरी के बिना हो सकती थी।

रिपोर्ट में कहा गया है, यह हत्या ‘विदेश में मौन असंतुष्टों के लिए हिंसक उपायों का उपयोग करने के लिए राजकुमार के समर्थन के एक पैटर्न पर भी फिट बैठती है।

स्वाभाविक है कि अभी तक मोहम्मद बिन सलमान इस बात से इनकार करते रहे हैं कि उन्होंने जमाल खशोगी की हत्या के आदेश दिए थे।

बहरहाल, इस रिपोर्ट के बाद बिडेन प्रशासन ने इस हत्या से जुड़े लोगों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। इसके साथ बिडेन प्रशासन ने खशोगी की हत्या के जिम्मेदारी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने का एलान किया है।

कुल 76 अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाया गया है। इन पर विदेशों में लोगों को धमकाने का आरोप है। विदेश मंत्री ब्लिंकेन ने इन अफसरों पर वीजा प्रतिबंध लगाने का एलान किया। हालांकि प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाया गया है।

ADVERTISEMENT