अमरीका आतंकवादियों को सशस्त्र करने का फैसला वापस ले: तुर्क राष्ट्रपति

अमरीका आतंकवादियों को सशस्त्र करने का फैसला वापस ले: तुर्क राष्ट्रपति
Click for full image

अंकारा: तुर्क राष्ट्रपति रिसेप तईप एर्दोगन ने अमरीका से मांग की है कि वह सीरियाई कुर्द लड़ाकों को सशस्त्र करने का फैसला तुरंत वापस ले।

तुर्क राष्ट्रपति ने इस उम्मीद का इज़हार किया है कि ”इस गलती को तुरंत ठीक कर दिया जाएगा।” उन्होंने कहा कि वह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से 16 मई को अपनी बैठक में इस मुद्दे पर बात करेंगे और उन्हें तुर्की की चिंता से अवगत करेंगे।

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार उन्होंने यह बयान अमेरिकी राष्ट्रपति की ओर से कुर्द पीपुल्स प्रोटेक्शन यूनिट (वाई पी जी) को आईएस के खिलाफ लड़ाई के लिए हथियार उपलब्ध कराने की मंजूरी के बाद जारी किया है. तुर्की सीरियाई कुर्दों को भी तुर्क कुर्द विद्रोहियों की पार्टी कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी का दूसरा चेहरा बताता है, और उसने उन्हें आतंकवादी करार दे रखा है।

राष्ट्रपति रिसेप तईप एर्दोगन ने इस ओर इशारा करते हुए संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह चाहते हैं कि तुर्की सहयोगी आतंकवादी संगठन के बजाय अंकारा का साथ दें।
इस बीच तुर्की के उप प्रधानमंत्री नूरुद्दीन चानकली ने ए समाचार टेलीविजन चैनल से बातचीत करते हुए कहा है कि ” वाई पी जी को हथियार उपलब्ध कराने की प्रक्रिया बिल्कुल अस्वीकार्य है, इस तरह की नीति से किसी को कुछ फायदा नहीं पहुंचेगा। हम उम्मीद करते हैं कि इस गलती को दुरुस्त कर दिया जाएगा। ‘

वाईपीजी के प्रवक्ता रज़ोर जलील ने इस फैसले पर अपनी संतुष्टि व्यक्त करते हुए कहा है कि ”अमेरिका के हथियार उपलब्ध कराने के ऐतिहासिक फैसले के बाद हमारी यूनिट आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई में अधिक प्रभावी और तेज़ी से अपनी भूमिका निभा सकेंगे ।

Top Stories